जागो और तब तक मत रूको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाए

0
200

गीता परिवार ने मनाया स्वामी विवेकानंद जयंती, युवा दिवस पर वकृत्व, प्रश्नोत्तरी, चित्रकला स्पर्धा का आयोजन

लखनऊ, 12 जनवरी, 2020: स्वामी विवेकानंद जी की 158वीं जयंती के अवसर पर गीता परिवार उ.प्र की ओर से युवा दिवस का आयोजन रविवार को हरिओम नगर मड़ियांव लखनऊ एवं सभी बाल संस्कार केन्द्रों पर धूमधाम से मनाया गया। जिसमें बच्चों के लिए विशेष रूप से वकृत्व स्पर्धा, प्रश्नोत्तरी स्पर्धा एवं चित्रकला स्पर्धा का आयोजन किया गया।

इस मौके पर आरएसएस के पूर्व प्रचारक शिव बहादुर सिंह, गीता परिवार के महासचिव अनुराग पांडेय एवं रमाकांत साहू ने दीप प्रज्वलन एवं स्वामी विवेकानंद के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। इस मौके पर अनुराग पांडेय बच्चों को स्वामी विवेकानंद के बोध वाक्य उठो, जागो और तब तक मत रूको जब तक लक्ष्य की प्राप्ति न हो जाए।

विवेकानंद के जीवन प्रकाश डालते हुए अपने विचार एवं स्वामीजी से संबंधित विविध प्रेरक प्रसंगों के बारे बताया और स्वामी आदर्शों पर सभी को चलने के प्रेरित किया। शिव बहादुर सिंह ने कहा कि बच्चों और युवाओं को खासतौर पर विवेकानंद के चरित्र से प्रेरणा लेनी चाहिए आज के युवाओं व बच्चों के बहुत जरूरी है।

रमाकांत साहू ने कहा कि शिक्षा के साथ-साथ चरित्र निर्माण की भी आवश्यक है। उनके बताये हुए सत्मार्ग पर चलने हम सभी को चलना चाहिए। मडियांव केन्द्र पर प्रश्नोत्तरी स्पर्धा में वीर सिंह, भाषण स्पर्धा में गौरी सिंह, चित्रकला स्पर्धा में आजाद एवं गीता श्लोक स्पर्धा में गौरी, शिवा, काजल और शास्त्री केन्द्र पर काजल सिंह, सुनैना सिंह विजयी रहे। कार्यक्रम के अंत में स्पर्धा के विजेता बच्चों को मुख्य अतिथियों पुरस्कृत किया। कार्यक्रम का नियोजन सुभाषिनी, संचालन पीयूष, अंजलि कर रहे थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here