लखनऊ में एनकाउंटर: कोर्ट से फरार था अपराधी सुनील शर्मा

0
602
  • सलीम-सोहराब के शार्प शूटर से पुलिस की मुठभेड़, पुलिस मुठभेड़ में शार्प शूटर सुनील शर्मा ढेर
  • पुलिस ने गंभीर हालत में कराया भर्ती,अस्पताल में मौत, सभासद पप्पू पांडेय की हत्या का आरोपी है सुनील शर्मा
  • जेल से लखनऊ के व्यापारियों से कर रहा था वसूली,1 माह पहले पेशी से फरार हुआ था सुनील शर्मा
  • गोमतीनगर विस्तार में पुलिस से मुठभेड़ में सुनील शर्मा ढेर

लखनऊ 1सितम्बर। लखनऊ पुलिस ने आज सुबह मुड़भेड़ में रुस्तम सोहराब गैंग के सबसे बड़े शूटर सुनील शर्मा को गोमतींनगर विस्तार में एक मुड़भेड़ में मार गिराया। मुड़भेड़ में घायल हुय बदमाश की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हुई। सुनील शर्मा पर 15 हज़ार का इनाम था |

जानकारी के अनुसार सभाषद पप्पू पांडेय की हत्या के आरोप जेल से एक महीने पहले ही सुनील फरार हुआ था । बताया जाता है जेल में रहकर व्यापारियों से रंगदारी वसूल रहा था। लखनऊ पुलिस ने आज तड़के सुबह पूर्व पार्षद पप्पू पांडेय के हत्यारोपी और व्यापारियों से रंगदारी वसूलने वाले बदमाश सनील शर्मा को मुठभेड़ के दौरान मार गिराया है।

चिनहट निवासी सुनील शर्मा खूखार अपराधी सुनील शर्मा एक महीने पहले ही पेशी के दौरान लखनऊ के वजीरगंज इलाके से फरार हुए था, बदमाश सुनील शर्मा सीरियल किलर भाइयो सलीम, सोहराब और रुस्तम का शार्प शूटर था, बदमाश सुनील ने ही लखनऊ के चर्चित पूर्व पार्षद श्याम नारायण पांडेय उर्फ पप्पू पाण्डेय की हत्या को दिनदहाडे अमीनाबाद के भीड़भाड़ वाले इलाके में अंजाम दिया था साथ ही मृतक बदमाश सीरियल किलर भाइयों के इशारे पर व्यापारियों से धन उगाही भी करता था, लखनऊ पुलिस के जांबाज़ गाज़ीपुर थाने के इंस्पेक्टर गिरजाशंकर त्रिपाठी को इस बात की सूचना मिली थी एक बाइक से आदमी जा रहा है जिस पर एसओ गोसाईगंज डीके शाही और इंपेक्टर गाज़ीपुर ने अपराधी को पकड़ने के लिए मशक्कत की लेकिन वो भागने लगा, शहीद पथ पकड़ते ही बदमाश सुनील शर्मा गोमती बैराज के रास्ते में मुड गया जहा उसकी बाइक कुछ ही दूर जाते ही फिसल गयी और वो घबराता हुए अपनी पिस्टल से पुलिस के ऊपर फायरिंग करने लगा जिसके बाद पुलिस और बदमाश में गोलियों की बौछार शुरू कर दी बदमाश सुनील के पास कंट्री मेड 2 पिस्टल भी मुठभेड़ में पायी गयी है और वही कई कारतूस घटना स्थल से बरामद हुई है। लखनऊ पुलिस के अफसरों दी इस दौरान अपराधी सुनील शर्मा के मुठभेड़ के दौरान सीने में गोली लग गयी जिसके बाद उसे अस्पताल में भर्ती करया गया जहा इलाज के दौरान खूंखार अपराधी ने दम तोड़ दिया ।

इस दौरान एनकाउंटर की खबर मिलते ही एडीजी जोन अभय प्रसाद मौके पर पहुंचे और टीम को खूंखार अपराधी को मार गिराने की बधाई दी और साथ ही वहा पुलिसकर्मियो की हौसला अफ़ज़ाई करते हुए उन्हें इनाम देने की भी शिफारिश की, इस एनकाउंटर में पुलिस और बदमाश की इस मुठभेड़ में एक खूंखार अपराधी से लखनऊ पुलिस ने एक सफलता हासिल की है तो वही रंगदारी से पीड़ित व्यापारियों ने भी राहत की सांस ली है।