सावधान हो जाएं आतंकी और अलगाववादी: अमित शाह

0
144
file photo

सरकार की आतंकवाद के प्रति कतई बर्दाश्त नहीं करने की नीति है, जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि बढ़ाने और जेएण्डके आरक्षण (संशोधन) विधेयक को सर्वसम्मति से रास की मंजूरी

नई दिल्ली, 02 जुलाई 2019: गृह मंत्री अमित शाह ने आतंकियों को करारा सन्देश देते हुए सोमवार को कहा कि राज्य में ‘‘आतंकवाद एवं अलगाववाद’ को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं किया जाएगा तथा ऐसे लोगों को ‘‘कठोरता एवं कठिनाइयों’का सामना करना पड़ेगा।

श्री शाह ने जम्मू कश्मीर में राष्ट्रपति शासन की अवधि छह महीने बढ़ाने संबंधी संकल्प तथा जम्मू और कश्मीर आरक्षण (संशोधन) विधेयक 2019 पर एक साथ हुई र्चचा के जवाब में राज्यसभा में यह बात कही। गृह मंत्री के जवाब के बाद सदन ने इस संकल्प और विधेयक को ध्वनि मत से पारित कर दिया। लोकसभा इन्हें पहले ही पारित कर चुकी है।

इससे पहले गृह मंत्री शाह ने चर्चा का उल्लेख करते हुए कहा कि नरेन्द्र मोदी सरकार की आतंकवाद के प्रति ‘‘कतई बर्दाश्त नहीं करने ’ की नीति है और हम उसको हर पल निभाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने स्पष्ट किया कि कश्मीर एक पुरानी समस्या है और इसके समाधान के लिए हमें नई सोच अपनाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि सरकार मानती है कि घाटी के लोगों का विकास हो तथा वहां के लोगों का भी देश के बाकी हिस्सों की तरह विकास हो सके। उन्होंने कहा, ‘किंतु हम आतंकवाद एवं अलगाववाद को बिल्कुल बर्दाश्त नहीं कर सकते।

उन्होंने कहा कि जो भारत के संविधान को नहीं मानता, हम उसे बिल्कुल बर्दाश्त नहीं कर सकते। ऐसे लोगों के साथ कठोरता भी बरती जाएगी और उन्हें कठिनाइयों का सामना भी करना पड़ेगा।’’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here