अक्षय तृतीया पर होते हैं बाल विवाह, चाइल्ड लाइन टीम की रहेगी विशेष नजर? 

0
230
बाराबंकी, 25 अप्रैल 2019: अक्षय तृतीया के अवसर पर बाल विवाह की सम्भावनाए अधिक बढ़ जाती है इसलिए चाइल्ड लाइन एवं आशा ज्योति महिला हेल्पलाइन 181 संयुक्त रूप से आउटरीच कर बाल विवाह की घटनाओं पर नजर रखे जिससे बाल विवाह को रोका जा सके।
यह विचार जिला प्राबेशन अधिकारी श्री अनिल कुमार मौर्य ने चाइल्ड लाइन के द्वारा आयोजित जिला स्तरीय फैसिलीटेशन मीटिंग में हेल्पलाइन टीम के कार्यकर्ताओं से व्यक्त किये। श्री मौर्य ने बताया कि अक्षय तृतीय के अवसर पर विगत वर्ष प्रदेश में 450 बाल विवाह रोके गये हैं। इस पर्व पर विशेष कर बाल विवाह की घटनाएं होती हैं। बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष श्रीमती लक्ष्मी श्रीवास्तव ने कहा कि चाइल्ड लाइन टीम द्वारा हैदरगढ़ क्षेत्र में एक 16 वर्षीय बालिका का विवाह रोकने के लिए परिजनों को राजी किया और बाल कल्याण समिति के समक्ष बालिका के परिजनों ने उपस्थित होकर बाल विवाह न करने का शपथ पत्र प्रस्तुत किया है जो चाइल्ड लाइन का सराहनीय कार्य है।
बाल कल्याण समिति के सदस्य श्री रत्नेश कुमार ने बाल अधिकारों को बताते हुए कहा कि बच्चों को पोषण, स्वास्थ्य शिक्षा और संरक्षण पाने का अधिकार है यदि किसी भी परिस्थिति में बच्चे इन अधिकारों से वंचित है तो चाइल्ड लाइन बच्चों को अधिकार दिलाने के लिए हस्तक्षेप करे। उन्होंने कहा कि आशा ज्योति महिला हेल्पलाइन 181 व चाइल्ड लाइन टीम आपस में समन्वय कर बच्चों की सहायता के लिए जन-जागरूकता का कार्य करे। श्रम विभाग के नया सवेरा परियोजना की टेक्निकल रिसोर्स पर्सन सुश्री सितारा सिद्दीकी ने शहरी क्षेत्र के स्कूल से विमुख बच्चों को स्कूल से जोड़ने के लिए सहयोग करने की अपील की तो वहीं एक्शन एड यूनीसेफ की नई पहल परियोजना समन्वयक सुश्री सबा फातिमा ने ड्राप आउट बच्चों को स्कूल लाने के लिए चाइल्ड लाइन से मदद मांगी।
महिला शक्ति केन्द्र की जिला समन्वयक सुश्री रूचि शर्मा और महिला कल्याण अधिकारी पूजा जायसवाल ने भी अपने विचार रखे। चाइल्ड लाइन के जिला उप केन्द्र के समन्वयक श्री अवधेश कुमार ने विचार रखते हुए कहा कि होटल ढाबों से बच्चों को बालश्रम से हटाने के लिए अभियान के रूप में कार्य करने की जरूरत है। चाइल्ड लाइन के जिला समन्वयक राम करन यादव ने बताया कि चाइल्ड लाइन द्वारा वर्ष 2018-19 में 314 बच्चों की सहायता एवं उन्हें संरक्षण देने का काम चाइल्ड लाइन बाराबंकी द्वारा किया गया है।
बच्चों में चाइल्ड लाइन के प्रति जागरूकता लाने के लिए विभिन्न स्तरों पर बैठकें व पुलिस छात्र संवाद के कार्यक्रम किये जा रहें हैं। इस बैठक में बाल कल्याण समिति की सदस्य डा0 शशि जायसवाल, श्री सुरेश चन्द्र गुप्ता, आशा ज्योंति महिला हेल्पलाइन 181 की टीम से निशा श्रीवास्तव, नीतू सिंह रेनू मसीह, जिला बाल संरक्षण इकाई से सुश्री आभा श्रीवास्तव, ममता देवी, प्रियंका रावत, चाइल्ड लाइन टीम से श्री जियालाल, विकास वर्मा, मनीष सिंह, अखिलेश कुमार, राम कैलाश, अंजलि जायसवाल, जीनत बेबी, विपिन कुमार, अनिल कुमार राजवती आदि लोग उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here