अब किसी भी गब्बर सिंह की ख़ैर नहीं!

0
80
हिट जोड़ी साबित हुयी: मोदी ‘जय’ और अमित ‘वीरू की: अब राम मंदिर भी बनेगा और पाक अधिकृत कश्मीर भी हमारा होगा
नवेद शिकोह
मोदी सरकार कि सफलताएं ही उसके गले की फांस बन गई है। जनता की अति अपेक्षाओं से सरकार पर दबाव बढ़ रहा है। कोई कह रहा है-  “जय-वीरू अब पाक अधिकृत कश्मीर भी आज़ाद करवाओ”!
और अब लोगों मे ये विश्वास बढ़ गया है कि प्रधानमंत्री और गृहमंत्री की जोड़ी अपनी कुशल कार्यप्रणाली से अयोध्या मे राम मंदिर.निर्माण जल्द ही करवायेंगे।
अब राज्यसभा मे भी सरकार पर विश्वास की किरण दिखने लगी है। जनहित और जनभावनाओं को लेकर मोदी सरकार संसद मे कोई भी बिल पास करवा सकती है। तीन तलाक और कश्मीर मसला संसद मे सुलझने के बाद साबित हो गया कि मोदी है तो सबकुछ मुम्किन है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की जोड़ी को सोशल मीडिया मे शोले के जय-वीरू की जोड़ी कहा जा रहा है। देश की जनता शोले के ठाकुर की तरह जय-वीरू पर कुछ ज्यादा ही विश्वास करने लगी है। लगने लगा है कि अब किसी भी गब्बर सिंह की ख़ैर नहीं।
आपरेशन घाटी ने इतिहास रच दिया। अनुच्छेद 370 पर भी सफलता अर्जित कर ली। साबित हो गया कि शोले फिल्म की तरह इस देश मे भी जय-वीरू जैसे हीरोज की जोड़ी है। ये कुछ भी कर सकते हैं।अब कुछ भी असंभव नहीं। हर गब्बर सिंह मार दिया जायेगा।
file photo
देश को फिल्म शोले मान लें तो सवा सौ करोड़ जनता ठाकुर (संजीव कुमार) बन गयी है और प्रधानमंत्री नेरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह जय-वीरू बन गये हैं। ये जोड़ी मिलकर असंभव को संभव कर सकती है। इनके पास पुराने से पुराने हर मर्ज का इलाज है। ये शातिर से शातिर, ख़ूखार से ख़ूख़ार और ताकतवर से ताकतवर किसी भी गब्बर सिंह को निपटा सकते हैं।
मोदी सरकार की सफलताओं ने ही मोदी सरकार पर दबाव बढ़ा दिया है। जनता अतिअपेक्षाएं करने लगी है।
संसद मे तीन तलाक़ बिल पास होना और कुछ दिन बाद ही अनुच्छेद 370 पर सफलता पाकर इतिहास रचने वाली मोदी सरकार का संसद मे जादू चलता है। भले ही राज्यसभा मे बहुमत ना हो लेकिन कुशल मैनेजमेंट और जनहित के मुद्दों की ताकत से भाजपा राज्यसभा मे भी कोई भी कानून पास करवा सकती है। देश को अब राममंदिर निर्माण की उम्मीद भी बढ़ गयी है। मामला कोर्ट मे नहीं होता तो अयोध्या मे राम मंदिर निर्माण का कानून संसद मे पास करवा लिया होता। जिस तरह से जटिल से जटिल मामलों को सुलझाने के लिए सरकार ने संसद मे बिल पास करवा लिए।
जनता को अब लगने लगा है कि उसकी लोकप्रिय सरकार उसके भरोसे की हर कसौटी पर खरी उतर सकती है। संविधान और कानून के दायरे मे मंदिर निर्माण जैसे जटिल कार्य भी सुलभ हो गये हैं।
जनहित और जनभावनाओं को देखते हुए कानून और संविधान तक मे संशोधन की आवश्यकता पड़े तो भाजपा सरकार इस काम को भी संसद मे पास करवा सकती है।
कश्मीर समस्या और तीन तलाक जैसे आपरेशन सफल होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृहमंत्री अमित शाह की लोकप्रियता बढ़ गयी है। लोग अमित शाह को नरेंद्र मोदी का राजनीतिक उत्तराधिकारी मानने लगे हैं। सोशल मीडिया पर इन्हें शोले के जय-वीरू की जोड़ी भी कहा जा रहा है। अतिअपेक्षाएं का आलम ये है कि कोई कह रहा है कि मोटा भाई अबकि बार पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर को आजाद कराओ। कोई लिख रहा है कि बरसों पुराना सपना साकार होगा। भारत को अब हिन्दू राष्ट्र बनने से कोई नहीं रोक सकता।मोदी हैं तो सबकुछ मुम्किन है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here