तैयारी Unlock -2 की

0
51

योगी आदित्यनाथ अपने दायित्व के प्रति कितने सजग है अनुमान उनके आज के कार्यक्रम से लगाया जा सकता है। आज दोपहर में उनको बुन्देलखण्ड पेयजल परियोजना के शिलान्यास हेतु झांसी रवाना होना था। लेकिन इसके पहले वह अनलॉक टू तथा अन्य प्रबंधन पर विचार हेतु कोर ग्रुप की बैठक में शामिल हुए। इसमें उन्होंने अनलॉक हेतु दिशानिर्देशों पर विचार किया। इसके अलावा कोरोना चिकित्सा संचारी रोगों से बचाव, गौ संरक्षण केंद्रों की व्यवस्था आदि की भी समीक्षा की।

उन्होंने अनलाॅक टू की गतिविधियों को भारत सरकार के दिशा निर्देशों के अनुरूप संचालित कराने के निर्देश दिए हैं। कहा कि केन्द्र सरकार के प्राविधानों का अध्ययन करते हुए पूरी तैयारी के साथ इसे लागू किया जाए। कोरोना का संकट अभी बना हुआ है। कोरोना संक्रमण बचाव हेतु दिशा निर्देशों का पालन करना अपरिहार्य है। संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिए प्रत्येक स्तर पर पूरी सावधानी रखनी होगी।

योगी ने कहा कि लोग अनावश्यक आवागमन से बचें। लोगों को जागरूक करने के उद्देश्य से संचालित प्रचार प्रसार के कार्य को जारी रखने के निर्देश दिए। यह भी निर्देश दिया कि टेस्टिंग क्षमता में वृद्धि के लिए प्रयास लगातार जारी रखे जाएं। कोविड अस्पतालों में बेड की संख्या को बढ़ाया जाए। कोविड हेल्प डेस्क में इंफ्रारेड थर्मामीटर एवं पल्स आक्सीमीटर की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए। हेल्प डेस्क पर कार्यरत कर्मियों को मास्क,ग्लव्स तथा सेनिटाइजर दिया जाए। कोविड अस्पतालों में भर्ती मरीजों के परिजनों से संवाद बनाकर उन्हें रोगी के स्वास्थ्य की स्थिति से नियमित तौर पर अवगत कराया जाए।सभी अस्पतालों में स्वच्छता व सभी आवश्यक सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी।

एक जुलाई संचारी रोग नियंत्रण अभियान प्रारम्भ हो रहा है। मुख्यमंत्री ने कहा कि संचारी रोगों व कोरोना को नियंत्रित करने में स्वच्छता की बड़ी भूमिका है। इसके दृष्टिगत उन्होंने ग्रामीण तथा शहरी इलाकों में मिशन मोड पर स्वच्छता अभियान संचालित किए जाने के निर्देश दिए। लोग मास्क अथवा फेस कवर का अनिवार्य रूप से इस्तेमाल करें तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

योगी गौ संरक्षण के प्रति भी सजग रहते है। उन्होंने गौ आश्रय स्थलों पर गौवंश के लिए भूसे व हरे चारे की व्यवस्था सुनिश्चित रखने के निर्देश दिए। टिड्डी दल से कृषि नुकसान को बचाने हेतु रसायनों के छिड़काव के व्यापक प्रबन्ध किए जा रहे है।

  • डॉ दिलीप अग्निहोत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here