यूपी में आकार लेती फ़िल्म सिटी

0
309

डॉ दिलीप अग्निहोत्री

मात्र एक हफ्ते में फ़िल्म सिटी निर्माण प्रक्रिया आकार लेने लगी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस संबन्ध में निर्मित रूपरेखा का अवलोकन किया। योगी की इस कार्यशैली ने फ़िल्म जगत को प्रभावित किया है। इन लोगों के लिए योगी आदित्यनाथ से संवाद नया अनुभव था। इन्होंने पहली बार किसी मुख्यमंत्री की फ़िल्म सिटी निर्माण पर ऐसी कटिबद्धता देखी।

योगी ने कला जगत को प्राचीन भारतीय धरोहर से जोड़ कर नया विचार दिया। दुनिया में जब मानव सभ्यता का उचित विकास नहीं हुआ था, तब भारत में नाट्यशास्त्र से संबंधित ग्रन्थों की रचना हो चुकी थी। इसमें कलाजगत की सभी बारीकियों का उल्लेख था। योगी ने वैदिक काल से लेकर भारतीय गौरव गाथा का उल्लेख किया, मन्त्र का उच्चारण किया। जिसमें पूर्णता का संकल्प था। कहा कि अधूरा हम लोगों में कुछ नहीं होता। हम आधे में नहीं,पूर्ण में विश्वास करते हैं। हमारी संस्कृति में पूर्णता से प्रारम्भ और पूर्णता से ही समापन होता है।

ॐ पूर्णमदः पूर्णमिदं पूर्णात्पूर्णमुदच्यते। पूर्णस्य पूर्णमादाय पूर्णमेवावशिष्यते।।

यह भारत की वास्तविक परम्परा है। इसलिए कुम्भ नामकरण किया गया। योगी बताना चाहते थे कि वह कोई कार्य अधूरा नहीं छोड़ते। फ़िल्म सिटी निर्माण का वादा किया है, तो उसे अंजाम तक पहुंचाया जाएगा। यह कार्य भी सामान्य नहीं होगा। यह विश्व स्तरीय होगा। इसके पहले योगी प्रयागराज कुम्भ का विश्वस्तरीय आयोजन करके दिखा चुके है। इसमें अनेक विश्वस्तरीय कीर्तिमान स्थापित हुए थे। कुम्भ के आयोजन को यूनेस्को ने मानवता की अमूर्त सांस्कृतिक धरोहर के रूप में मान्यता दी है।

योगी ने कलाकारों को भारतीय विरासत से प्रेरित करने का प्रयास किया। कहा कि दुनिया की सबसे प्राचीन नगरी काशी मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान श्रीराम की जन्मभूमि, भगवान श्रीकृष्ण की जन्मभूमि, गंगा यमुना के संगम की स्थली उत्तर प्रदेश में है। यहां के नैमिष तीर्थ में श्रीमद्भागवत पुराण का सर्वप्रथम वाचन हुआ था। शुक्र तीर्थ,चित्रकूट तथा श्रृंगवेरपुर आदि भी इसी राज्य में हैं। यह वैदिक काल से लेकर वर्तमान काल खण्ड तक भारतीय परम्परा, संस्कृति और सभ्यता की सबसे महत्वपूर्ण धरती उत्तर प्रदेश रही है।

बुद्ध, महावीर और कबीर विश्व को उत्तर प्रदेश की देन हैं। गंगा और यमुना जैसी पवित्र नदियां है।फिल्म सिटी का प्रस्तावित स्थल भगवान श्रीकृष्ण की नगरी मथुरा के नजदीक है। यह सम्पूर्ण क्षेत्र भारत की वैदिक,पौराणिक एवं आध्यात्मिक परम्पराओं को जोड़ता है। फिल्म सिटी को डेडिकेटेड इन्फोटेनमेण्ट जोन के रूप में विकसित किया जाएगा। जहां विश्व स्तरीय डेटा सेण्टर भी बनाए जाएंगे। इससे आने वाले समय में इण्टरनेट इनेबल्ड कण्टेण्ट डिस्ट्रीब्यूशन तथा वर्चुअल रियलिटी आदि उपलब्ध होंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here