शिमला जिलें के 10 हजार गरीब बच्चों को आईकेअर सुविधा उपलब्ध कराएगी एस्सिलॉर विजन फाऊन्डेशन इंडिया

0
145

शिमला 26 नवंबर, 2019: एस्सिलॉर विजन फाऊन्डेशन (ईवीएफ) इंडिया और उनके भागिदारों की ओर से हिमाचल प्रदेश के शिमला ज़िलें के 10 हजार गरीब बच्चों में गुणवत्तापूण्र आईकेअर सुविधा प्रदान करनें के लिए गठजोड की घोषणा की. यह गठजोड हिमाचल प्रदेश के परिवार कल्याण और सेहत मंत्रालय (डीएचएफडब्ल्यू), इंडिया विजन इन्स्टिट्यूट (आईवीआई), ईवीएफ और रेबैन सन ऑप्टिक्स इंडिया प्रा.लिमिटेड के साथ किया गया. इस कार्यक्रम का अधिकृत विमोचन हिमाचल प्रदेश के राज्यपाल महामहिम श्री बंडारू दत्तात्रय के हाथो हुआ और उनके हाथों इस कार्यक्रम में उपस्थित बच्चों को चष्मे प्रदान किए गए.

इस कार्यक्रम के तहत 10000 गरीब बच्चों के आँखों की जांच शिमला ज़िले के सरकारी या सरकारी अनुदानित स्कूलों में अगले पांच महिनों तक की जाएगी तथा जिनकी आँखों में समस्या है उन्हें मुफ्त चश्मे दिए जाएंगे. इन में से अधिकतर बच्चे उपनगरीय इलाकों में रहतें है और उनके पास आईकेअर की अच्छी सुविधाएं उपलब्ध नहीं है.

इस कार्यक्रम का क्रियान्वयन ईवीएफ और आईवीआई द्वारा तथा लक्झॉटिका ग्रुप की कंपनी रेबैन सन ऑप्टिक्स इंडिया प्रा. लिमिटेड के सहयोग से किया जाएगा. रेबैन सन ऑप्टिक्स इंडिया प्रा. लिमिटेड इस प्रकल्प का फंडिंग पार्टनर है तथा उनके कर्मचारी भी इस कार्यक्रम में काम करेंगे.

एस्सिलॉर लक्झॉटिका और एस्सिलॉर इंटरनैशनल के चीफ मिशन ऑफिसर जयंत भुवरघन नें कहा “ बच्चों की ८० प्रतिशत पढाई आँखों के जरिए होती है, इसलिए अगर उनकी दृष्टी कमजोर हो तो उसका बुरा असर उसकी स्कूली प्रगती पर होता है. इस तरह के कार्यक्रमों से उन्हें केवल दृष्टी की जांच करनें का मौका मिलेगा तथा उनके पालकों में दृष्टी का महत्त्व भी फैलेगा जिस से वें उनके परिवारों को भी नियमित आँखो की जांच करनें के लिए प्रोत्साहित करेंगे.”

आईवीआई के सीईओ विनोद डैनियल नें कहा की हमें आशा है की इस मुहिम का लोगों पर अच्छा असर पड़ेगा तथा बच्चों द्वारा जो समस्याओं का सामना विशेष रूप से क्लास में करना पड़ता है उससे निजात मिल सकेगी. चष्मों के कारण उनकी दृष्टी में सुधार आएगा और उन्हें स्कूल के साथ रोजमरहा के काम में भी सहयोग प्राप्त होगा.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here