दीक्षान्त का व्यापक आयाम

0
160

उत्तर प्रदेश की राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल ने कुलाधिपति के रूप में विश्वविद्यालयों के दीक्षांत समारोहों को व्यापक आयाम व स्वरूप प्रदान किया है। इसमें उन्होंने छोटे क्लास के बच्चों की सहभागिता सुनिश्चित की, जिससे उनको भविष्य की प्रेरणा मिल सके। इसी के साथ वह समाज से जुड़े विषय भी उठाती है। जिससे उच्च शिक्षा के विद्यर्थियो को मार्गदर्शन मिलता है।

राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय प्रयागराज के दीक्षांत में भी उन्होंने अपने इस विचार अभियान को आगे बढ़ाया। यह समारोह भी केवल उपाधि वितरण और औपचारिक संबोद्धन तक सीमित नहीं रहा। बल्कि आनन्दी बेन पटेल ने दहेज और पॉलीथिन के विरोध, स्वच्छता, सफाई आदि पर भी जोर दिया। उन्होंने बालिकाओं की सफलता पर विशेष प्रसन्नता व्यक्त की। विद्या शाखाओं में सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले शिक्षार्थियों को विद्यर्थियो को स्वर्ण पदक प्रदान किए गए। इसमें चौदह स्वर्ण पदक छात्राओं ने हासिल किए।

आनन्दी बेन की प्रेरणा से इस दीक्षान्त समारोह को पॉलीथिन मुक्त रखा गया था। इस प्रकार विद्यर्थियो को किताबी शिक्षा के अलावा भी बड़ी प्रेरणा मिली। क्लीन कैंपस ग्रीन कैंपस पर भी ध्यान दिया गया था। दीक्षात समारोह भारतीय पारंपरिक परिधान में आयोजित किया गया।

उपाधि प्राप्त करने वाले छात्र छात्राओं के लिए सफेद धोती कुर्ता या पायजामा तथा छात्राओं के लिए पीली साड़ी या सलवार सूट निर्धारित किया गया था।

राज्यपाल ने दीक्षान्त समारोहों में छोटे क्लास के बच्चों को आमंत्रित करने की परंपरा शुरू की थी। प्रयागराज में इसे भी आगे बढ़ाया गया। समारोह में जूनियर हाईस्कूल के चयनित विद्यार्थियों सहित स्वावलंबी महिलाओं का स्वयं सहायता समूह भी शामिल होगा। आनन्दी बेन ने सर्व समावेशी संस्कृति कुंभ पुस्तक का विमोचन किया।

राज्यपाल आनंदी बेन पटेल ने कहा कि उच्च शिक्षा में गोल्ड मेडल हासिल कर रहे बेटे और बेटियों को दहेज में गोल्ड देने या लेने का विरोध करना चाहिए।

समाज में ऐसी भी बेटियां हैं जिन्होंने दहेज का पुरजोर विरोध किया और दहेज मांगे जाने पर मंडप से उठकर शादी करने से ही इंकार कर दिया। ऐसी बेटियों को समाज में बढ़ावा मिलना चाहिए और विश्वविद्यालय स्तर पर उन्हें सम्मानित भी किया जाना चाहिए। राज्यपाल ने बेटियों के लिए राज्य सरकार की ओर से शुरु की गई सुमंगला योजना की भी सराहना की।

  • डॉ दिलीप अग्निहोत्री

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here