ईशा व मीशा ने दिखाई साधना उत्सव में प्रतिभा

0
382

पाया कथक गुरुओं का आशीष

लखनऊ,05 नवम्बर 2019: लखनऊ घराने की नवयुवा नृत्यांगना जोड़ी ईशा रतन व मीशा रतन को पद्मविभूशण पंडित बिरजू महाराज के संरक्षण में प्रारम्भ किये गये ‘साधना उत्सव-2019’ में युवा प्रतिभाओं के रूप प्रदर्शन किया। कथक को समर्पित पं.बिरजू महाराज की संस्था कलाआश्रम ने त्रिवेणी सभागार नई दिल्ली में अन्तराष्ट्रीय स्तर पर वार्षिक कथक कार्यशाला आयोजित करने के साथ इस दो दिवसीय समारोह का आयोजन स्थपित और युवा कथक प्रतिभाओं के लिये तीन व चार नवम्बर को किया।

इस वर्ष की कार्यशाला के मध्य देश की उभरती युवा प्रतिभाओं में लखनऊ घराने से ताल्लुक रखने वाली राजधानी की जुड़वां बहनों ईशा रतन-मीशा रतन का चयन किया गया।

बता दें कि प्रयाग संगीत समिति इलाहाबाद से निपुण की डिग्री प्राप्त पं.अर्जुन मिश्र, अनुज मिश्र व सुरभि सिंह की इन जुड़वां बहनों ने कार्यक्रम में परम्परागत नृत्य की प्रस्तुति देते हुए थाट, उठान, आमद, द्रुत लय में चक्कर, लयकारी के संग रुद्राश्टकम की दर्शनीय प्रस्तुति देकर कथक गुरु पं.बिरजू महाराज और दर्शकों का आशीर्वाद हासिल किया। तबले पर कुशल साथ दिया विकास मिश्र ने।

इस अवसर पर पंडित बिरजू महराज के साथ ही जाने माने कथक नृत्य गुरु पंडित दीपक महाराज, कथक गुरु ममता महाराज, बबिता महाराज, रागिनी महाराज, आरती महाराज, गायक बंधु राजन मिश्र -साजन मिश्र सहित कथक में महरात प्राप्त देश विदेश के पांच सौ से भी अधिक कलाकार व कथक प्रेमी उपस्थित थे। पिछले 12 सालों से कथक में तल्लीन और अनेक प्रमुख समारोहों में प्रदर्शन कर चुकी दोनों नृत्यांगनाओं ने बताया कि उनके लिये ये एक यादगार अनुभव रहा जहां, कथक की दिग्गज हस्तियों, गुरुओं की सराहना और आषीश उन्हें मिला। इस प्रतिभाशाली युगल ने इस बार लखनऊ महोत्सव में भी प्रस्तुति के लिये आवेदन दिया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here