लखनऊ महोत्सव में बच्चों व युवाओं ने दिखाये कलात्मक प्रतिभा के जौहर

1
749

23वां युवा महोत्सव-2018 चौथा दिन

लखनऊ, 30 जनवरी। लखनऊ महोत्सव के अंर्तगत अवध शिल्प ग्राम में चल रहे 23वें युवा महोत्सव के आज चौथे दिन आयोजित सिंगिंग फिल्मी, सिंगिंग नाॅन फिल्मी, सिंगिंग ड्यूट, सिंगिंग भजन और ग्रीटिंग कार्ड प्रतियोगिता में बच्चों व युवाओं ने गायन के साथ रचनात्मक कलात्मक प्रतिभा दर्शायी।

युवा महोत्सव में आयोजित फिल्मी गायन प्रतियोगिता के जूनियर वर्ग में कुंवर अभिनय कुशवाहा ने तेरी दीवानी, वानी चावला ने सुन रहा है तू, प्राची यादव ने अर्जियां और शाश्वत ने ऐ दिले नादा गीत को सुनाकर कर लोगों को अपनी गायन प्रतिभा से अवगत कराया। इसी क्रम में फिल्मी नृत्य प्रतियोगिता के सीनियर वर्ग में सत्यम् ने तुझे याद कर लिया, मोहम्मद दानिश ने तैनू रतना मैं प्यार करा, अमन ने सुनों ना संगमरमर, कृष्णा मृणानी ने माही वे, शिवम् निगम ने रांझण दे यार बुलाया और मुबारक अली ने हो गई दीवानी गीत को सुनाकर श्रोताओं का दिल जीता। गायन प्रतियोगिता के निर्णायक थे वरिष्ठ गायिका पद्मा गिडवानी, पं. विजय बाजपेयी।

ट्विंकल और मोहम्मद के संचालन में आयोजित गैर फिल्मी गायन प्रतियोगिता के जूनियर वर्ग में शाश्वत ने आज होना दीदार और अनुग्रह अग्निहोत्री ने ओरी चिरैय्या गीत को सुनाकर श्रोताओं का न केवल दिल जीता अपितु अपनी गायन प्रतिभा से परिचित कराया। इसी प्रकार भजन प्रतियोगिता के सीनियर वर्ग में प्रशान्त सिंह ने ऊं नमः शिवाय, सिमरन कौर ने भर दो झोली और हिमाुशु द्विवेदी ने हे राम भजन को सुनाकर श्रोताओं को भावविभोर कर दिया। इस अवसर पर विशेष प्रस्तुति के तहत श्रेया सिंह ने सनम रे गीत पर आकर्षक नृत्य की सुवास बिखेरी तो वहीं दूसरी ओर लावण्या ने गणपति बप्पा गीत पर थिरक का लोगों का मन मोहा। इसके अलावा आज हुई ग्रीटिंग कार्ड प्रतियोगिता में अनेक प्रतिभागियों ने रंगों और कूची के माध्यम से पेपर पर लखनऊ की धरोहरों को उकेर कर अपनी कलात्मक प्रतिभा का परिचय दिया।

मयंक रंजन ने बताया कि 31 जनवरी को लखनऊ महोत्सव के मुख्य सांस्कृतिक पण्डाल में कैरोके सिंगिंग, ग्रुप डांस, भरतनाट्यम, पुष्प सज्जा, नुक्कड़ नाटक, रंगोली और कलश सज्जा प्रतियोगिता प्रातः11 बजे से होगी।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here