मायावती एसी में बैठकर करतीं गरीबों की राजनीति, खुद क्यों नहीं गयीं राजस्थान: भाजपा

0
271

भाजपा प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कहा, नेहरू परिवार और बसपा प्रमुख मायावती दोनों एक जैसे

बसपा प्रमुख मायावती हमेशा गरीबों की मसीहा बनती हैं, लेकिन राजनीति सिर्फ एसी में ही बैठकर करती हैं। कभी गरीबों का दर्द उनके पास जाकर जानने की कोशिश नहीं की। यही स्थिति राजस्थान के कोटा में बच्चों की मौत पर भी है। वे प्रियंका और सोनिया गांधी को तो वहां जाने, सीएम को बर्खास्त करने की बार-बार याद दिला रही हैं लेकिन खुद अपना डेलिगेट्स भी वहां भेजने की कोशिश नहीं की। आज जनता बसपा और कांग्रेस दोनों के ढ़ोंग से अच्छी तरह वाकिफ हो चुकी है। ये बातें भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता मनीष शुक्ला ने कही।

उन्होंने कहा कि बसपा का यह टीस दरअसल कोटा में बच्चों की मौत का नहीं है। वहां पर बसपा के समर्थन से ही बनी कांग्रेस की सरकार और उसके बाद सभी बसपा विधायकों को कांग्रेस द्वारा अपनी पार्टी में शामिल कर लिए जाने की कांग्रेस से दुश्मनी को निभा रही हैं। यही कारण है कि वे बार-बार कांग्रेस को घेर रही हैं, जबकि कांग्रेस और बसपा दोनों ही एसी में बैठकर राजनीति करने वाली पार्टियां हैं। बसपा प्रमुख का तो हमेशा से रिकार्ड रहा है कि वह कभी भी कहीं घटना स्थल पर जाने की कोशिश नहीं की। यदि वे हकीकत में कांग्रेस का विरोध करने वाली होती तो वे खुद राजस्थान में कांग्रेस की सरकार को समर्थन देतीं।

भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि बसपा प्रमुख और कांग्रेस को हमदर्दी भाजपा से सीखनी चाहिए। राजस्थान में बच्चों की मौत के बाद केंद्र सरकार से भाजपा ने वहां निरीक्षण करने के लिए अपना डेलीगेट्स भेजा। वहां की स्थिति के बारे में पल-पल की खबर रख रही है। अपनी तरफ से जो भी संभव है, वहां कार्यकर्ता भी कर रहे हैं।

भाजपा प्रवक्ता का यह बयान मायावती द्वारा शुक्रवार को आए ट्वीट “ ऐसे में कांग्रेस का लगभग 100 माओं की कोख उजड़ जाने पर केवल अपनी नाराजगी जताने से काम नहीं चलेगा बल्कि इनको तुरन्त बर्खास्त करके वहाँ अपने सही व्यक्ति को सत्ता में बैठाना चाहिये। तो यह बेहतर होगा। वरना वहाँ और भी माओं की कोख उजड़ सकती है।” के बाद आया है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here