24 को लखनऊ में ‘विशाल दलित पिछड़ा आरक्षण बचाओ महासम्मेलन‘ की तैयारियों की हुई समीक्षा

0
1571
  • चौक स्थित नेहरू युवा केन्द्र सभागार में समय 11 बजे से शुरू होगा महासम्मेलन।
  • अब दलित व पिछड़े मिलकर लड़ेंगे आरक्षण की लड़ाई।
 लखनऊ 20 सितम्बर। आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति, उप्र संयोजक मण्डल की एक आवश्यक बैठक आज सम्पन्न हुई, जिसमें आगामी 24 सितम्बर पूना पैक्ट दिवस पर संघर्ष समिति के तत्वाधान में नेहरू युवा केन्द्र, चौक, लखनऊ सभागार में प्रातः 11 बजे से आयोजित ‘‘विशाल दलित पिछड़ा आरक्षण बचाओ महासम्मेलन‘‘ की तैयारियों की समीक्षा की गयी और सम्मेलन को सफल बनाने की रणनीति को अन्तिम रूप दिया गया। संघर्ष समिति के नेताओं ने कहा कि केन्द्र की मोदी सरकार ने जिस प्रकार से अपना आधे से अधिक का कार्यकाल पूरा कर लिया और पदोन्नति में आरक्षण संवैधानिक संशोधन 117वां बिल पर चर्चा तक नहीं की, वह पूरी तरह दलित हितों के विपरीत है। संघर्ष समिति के नेताओं ने पुनः यह मांग दोहरायी कि पूर्व की भांति उप्र में पिछड़े वर्ग के कार्मिकों को भी पदोन्नति में आरक्षण की व्यवस्था बहाल की जाये।
आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उप्र के संयोजकों अवधेश कुमार वर्मा, केबी राम, डा. रामशब्द जैसवारा, आरपी केन, अनिल कुमार, अजय कुमार, श्याम लाल, अन्जनी कुमार, लेखराम, प्रेम चन्द्र, दिनेश कुमार, अजय कुमार, राम औतार, जितेन्द्र कुमार, श्रीनिवास राव, प्रभू शंकर राव, राधा किशन राव, सुनील कनौजिया ने कहा कि इस महासम्मेलन में दलित व पिछड़े वर्ग के कार्मिकों के हितों में अनेकों प्रस्ताव पास किये जायेंगे और संघर्ष समिति के आगे के आन्दोलन की पूरी कार्ययोजना भी तय की जायेगी। संघर्ष समिति के नेताओं ने कहा कि केन्द्र में मोदी की सरकार बनने के बाद दलित व पिछड़े वर्ग के लोगों को बहुत उम्मीदें थी। लेकिन पूरे देश में दलित व पिछड़े वर्ग के कार्मिकों को काफी निराशा हाथ लगी है, अब दलित व पिछड़े वर्ग के कार्मिकों को एकजुट होकर अपने हक की लड़ाई के लिये आगे आना होगा।
Please follow and like us:
Pin Share