भाजपा सरकार का बलात्कार, लूट और अपहरण की घटनाओं पर कोई नियंत्रण नहीं

0
350
लखनऊ 8 अक्टूबर। यूपी में कानून व्यवस्था पूरी तरह ध्वस्त है और जब से सभ्यता-संस्कृति के कथित पुजारियों ने सत्ता सम्हाली है, महिलाओं एवं बच्चियों के साथ दुष्कर्म की घटनाओं में वृद्धि हुई है। विश्वविद्यालयों एवं कालेजों में छात्राओं का सम्मान सुरक्षित नहीं रह गया है। भाजपा सरकार का बलात्कार, लूट और अपहरण की घटनाओं पर कोई नियंत्रण नहीं है। यह बाते आज भाजपा पर हमला करते हुए सपा के मुख्य प्रवक्ता राजेन्द्र चौधरी ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कही।
उन्होंने आगे कहा कि बीएचयू में छात्राओं द्वारा छेड़छाड़ की घटना का विरोध करने पर बर्बर लाठीचार्ज हुआ। एक पखवारा हो रहा है उनको न्याय नहीं मिला है। विडम्बना यह है कि 23 सितम्बर 2017 को बीएचयू में घटी घटना की जांच जब राष्ट्रीय महिला आयोग की अध्यक्ष करने पहुंची थी तभी 5 अक्टूबर 2017 को ही परिसर में समाजशास्त्र की एक छात्रा के साथ छेडखानी और मारपीट की घटना हो गईं। विश्वविद्यालय के प्रशासन का रवैया छात्राओं की गरिमा के प्रति पूर्णतया असम्मान जनक है।
सच तो यह है कि महिलाओं से सामूहिक बलात्कार, मासूम बालिकाओं की दुष्कर्म के बाद निर्मम हत्या, छात्राओं के साथ छेडछाड़ की घटनाओं से पूरा समाज घुटन महसूस कर रहा है। कोई दिन ऐसा नहीं होता जब प्रदेश के किसी न किसी हिस्से में महिलाओं एवं छात्राओं के साथ बलात्कार, हत्या और छेड़खानी की घटनाएं न घटती हों। अपराधियों को कानून या पुलिस का कोई भय नहीं रह गया है। और तो और स्वयं मुख्यमंत्री जी के गृहनगर गोरखपुर में भी दुष्कर्म की घटनाएं रूक नहीं पा रही है। 4 अक्टूबर 2017 को लखनऊ के मलीहाबाद और रायबरेली में नाबालिग के साथ गैंगरेप के बाद उनकी हत्याएं हो गई।
सच तो यह है कि भाजपा और उसका मूल संगठन आरएसएस ऐसी विचारधारा का है उसे शिक्षा संस्थानों की स्वायत्ता और नारी की स्वतंत्र सोच या उनके सम्मान से कोई मतलब नहीं है। जब छात्राएं और नौजवान अपनी आवाज उठाते हैं, उनकी आवाज बलपूर्वक दबा दी जाती हैं कि छात्राएं अपने सम्मान की रक्षा के लिए प्रदर्शन करती हैं तो उनके विरूद्ध लाठी, गोली  का इस्तेमाल होता है। प्रशासन का रवैया पूर्णतया संवेदनहीन है। प्रधानमंत्री जी जब वाराणसी में थे बीएचयू की छात्राओं के दुःखदर्द सुनने की उन्हें किसी को फुर्सत नहीं थी।
समाजवादी सरकार में महिलाओं की सुरक्षा के लिए श्री अखिलेश यादव ने 1090 वूमेन पावर लाइन की व्यवस्था की थी। पुलिस की यूपी 100 डायल की व्यवस्था भी की गई थी जिसकी सराहना विदेशों तक में हुई थी। महिलाओं को सम्मान एवं छात्राओं को तमाम सुविधाएं देने की शुरूआत भी श्री अखिलेश यादव जी ने की थी। कन्या विद्याधन, लक्ष्मीबाई पुरस्कार, लैपटाप वितरण की योजनाएं उनके लाभ के लिए थी। इन योजनाओं को भाजपा सरकार ने बर्बाद कर दिया है। यह भाजपा की जनविरोधी मानसिकता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here