बेदाग राजनीति के पर्याय रहें बृजभूषण तिवारी: राजेंद्र चौधरी

0
समाजवादी पार्टी कार्यालय 19, विक्रमादित्य मार्ग लखनऊ, में पर समाजवादी पार्टी के पूर्व सांसद एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रहे श्री बृजभूषण तिवारी की 76वीं जयंती मनाई गयी। इस अवसर पर उनके चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित की गयी। 
लखनऊ 13 अक्टूबर। पूर्व कैबिनेट मंत्री एवं मुख्य प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने छात्रों-नौजवानों एवं समाजवादी पार्टी के कार्यकर्ताओं को सम्बोधित करते हुए कहा कि बृजभूषण तिवारी सादगीपूर्ण और सहज व्यक्तित्व के धनी थें। उन्होंने समाजवादी विचारधारा को मजबूत करने का काम किया। वे समाजवादी पार्टी को मजबूत करने में आजीवन समर्पित रहे। उन्होंने कहा कि बृजभूषण तिवारी जी से मेरा आत्मीय जुड़ाव था। छात्र आंदोलन से लेकर संसदीय राजनीति के पांच दशकों के सफर में बृजभूषण तिवारी बेदाग राजनीति के पर्याय रहे। श्री तिवारी ने हमेशा गरीबों, दलितों, पिछड़ो, महिलाओं, के हितों के लिए संघर्ष किया। उन्होंने डा. लोहिया से श्री अखिलेश यादव तक अपनी राजनीतिक यात्रा की।
श्री राजेंद्र चौधरी ने कहा कि देश में लोकतंत्र को पटरी से उतारने की कोशिशें हो रही है। प्रतिगामी शक्तियां समाज को तोड़ने, बांटने पर उतारू हैं। जनता को उनसे सावधान रहना होगा। देश में आज राजनीति विचलन की शिकार है। भारतीय राजनीति का समाजवादी विचारधारा ही आज विकल्प है जो सत्ता के विकेंद्रीकरण और समाज की प्रगतिशील शक्तियों पर बल देती हैं। उन्होंने कहा कि बिना विचार के राजनीति बेमाने है। समाजवादी पार्टी सकारात्मक विचार की राजनीति करती है और मानती है कि सामाजिक सौहार्द में ही विकास संभव है।
श्री चौधरी ने कहा कि देश और प्रदेश की मौजूदा सरकारें जन विरोधी है। इनका काम छात्रों-नौजवानों का दमन करना है। भाजपा किसानों के साथ धोखाधड़ी कर रही है ऐसे में समाजवादी विचारधारा की जरूरत बढ़ती जा रही है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव विचार की राजनीति करते है। उनका मानना है कि राजनीति को विचार केन्द्रित बनाये रखने का काम जिम्मेदारी से निभाना चाहिये। श्री बृजभूषण तिवारी जैसे समाजवादियों ने अपना पूरा जीवन इसी उद्देश्य को पूरा करने में लगाया। उनके वैचारिक राजनीति की प्रशंसा राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री अखिलेश यादव भी करते है।
राजेंद्र चौधरी ने कहा कि ‘लोहिया से अखिलेश यादव‘ तक का अभियान इस दिशा में एक कदम है। राजनीति की शुचिता के लिए और इसे जनतांत्रिक बनाने में अखिलेश जी के प्रयासों को मजबूती देने का काम हम सबको करना है। विशेष कर युवा पीढ़ी के सामने यथा स्थिति वाद को तोड़ने की जो चुनौती है। वह श्री अखिलेश यादव के नेतृत्व में व्यवस्था परिवर्तन के लक्ष्य के संकल्प से ही सम्भव है।
कार्यकम में सर्वश्री अरविन्द कुमार सिंह एमएलसी, विजय सिंह यादव, श्रीमती विद्यावती राजभर, मधुकर त्रिवेदी, समाजवादी अध्ययन केन्द्र के संस्थापक मणेन्द्र मिश्रा, जय सिंह जयंत, रोहित शुक्ला लल्लू, प्रदीप शर्मा, सिद्धार्थ मिश्र, अनिल यादव मास्टर, अजीत सिंह, लोकेश यादव, अनूप बारी, आकाश दीप, सतीश शर्मा, डा. विकास वर्मा, सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here