आरक्षण समर्थकों ने प्रतापगढ़ में बीएसए कार्यालय पर बोला हल्ला, कहा वेतन फ्रीज व रिवर्शन का आदेश हो वापस

0
590

बी0एस0ए0, प्रतापगढ़ भीड़ देख घबराये, धरना स्थल पहुंच कर आरक्षण समर्थकों को सम्बोधित करते हुये कहा वेतन फ्रीज का आदेश लेगें वापस

आरक्षण समर्थकों का ऐलान पुनः हुई गलत रिवर्शन की कार्यवाही तो पूरे प्रदेश के 3 लाख दलित शिक्षक उसी छड़ जायेगें हड़ताल पर और बेसिक शिक्षा निदेशालय का करेगें चक्का जाम

protest against reservation rivert
protest against reservation rivert

पूरे प्रदेश में एक आरक्षण विरोधी संगठन के दबाव में बेसिक शिक्षा विभाग में दलित अध्यापकों को गलत तरीके से रिवर्ट किये जाने के क्रम में 2 दिन पूर्व जनपद प्रतापगढ़ में लगभग 200 दलित शिक्षकों को रिवर्ट मानकर उनका वेतन फ्रीज किया गया था, जिसको लेकर आरक्षण बचाओं संघर्ष समिति,उ0प्र0 एवं एस0सी0/एस0टी0 टीचर्स वेल्फेयर एसोसिएशन के तत्वाधान में आज जनपद प्रतापगढ़ में हजारों की संख्या में आरक्षण समर्थक कार्मिक व अध्यापकों ने प्रतापगढ़ बी0एस0ए0 कार्यालय पर जमकर विरोध प्रदर्शन व धरना दिया। जिसमें सभी आरक्षण समर्थकों ने वर्तमान सरकार पर करारा हमला बोलते हुये बी0एस0ए0 प्रतापगढ़ को बर्खास्त करने व उनके द्वारा गलत तरीके से रिवर्शन की कार्यवाही मानकर वेतन फ्रीज किये जाने के कृत्य को असंवैधानिक मानते हुये उनके विरूद्ध एस0सी0/एस0टी0 एक्ट के तहत मुकदमा चलाये जाने एवं कठोर कार्यवाही की माॅग उठाई। आरक्षण बचाओं संघर्ष समिति के संयोजक अवधेश कुमार वर्मा के नेतृत्व में अन्य संयोजकों के साथ संघर्ष समिति के दर्जनों पदाधिकारी सुबह लखनऊ से पहुॅचकर प्रतापगढ़ में डेरा जमा दिया था और प्रदर्शन का नेतृत्व किया।
विशाल प्रदर्शन व धरने में लखनऊ से मुख्य अतिथि के रूप में पहुॅचकर आरक्षण बचाओं संघर्ष समितिउ0प्र0 के प्रमुख संयोजक अवधेश कुमार वर्मा ने कहा कि प्रतापगढ़ में बी0एस0ए0, प्रतापगढ़ व लेखाधिकारी द्वारा दलित शिक्षकों को गलत तरीके से रिवर्ट किया गया है। प्रतापगढ़ जनपद में रिवर्ट किये गये सैकड़ों दलित शिक्षक जिनकी पदोन्नति आरक्षण अधिनियम-1994 की धारा 3(2) के तहत हुई थी, जो मा0 सुप्रीम कोर्ट आदेश की परिधि में नहीं आते, जिसके बावजूद रिवर्ट किया जाना असंवैधानिक कार्यवाही को दर्शाता है। अभी भी समय है बी0एस0ए0, प्रतापगढ़ को दलित अध्यापकों को वेतन फ्रीज का आदेश वापस लेना चाहिये अन्यथा की स्थिति में पूरे प्रदेश के लगभग 3 लाख दलित शिक्षक हड़ताल पर जाने के लिये विवश होगें। और पूरे प्रदेश के लाखों दलित शिक्षक निदेशक, बेसिक शिक्षा का कर्यालय का चक्का जाम करेगेें, जिसकी समस्त जिम्मेदारी बी0एस0ए0, प्रतापगढ़ की होगी।
लगातार पूरे प्रदेश से दलित शिक्षक व कार्मिक प्रतापगढ़ पहुॅच रहे थे, जिससे घबड़ाकर बेसिक शिक्षा अधिकारी, प्रतापगढ़ श्री बी0एन0 सिंह धरने पर आकर दलित शिक्षकों से ज्ञापन प्राप्त कर अपना संबोधन देते हुये कहा कि जिन दलित शिक्षकों का वेतन फ्रीज किया गया है, पूरे मामले पर पुनर्विचार कर शीघ्र ही वेतन फ्रीज का आदेश वापस लिया जायेगा, इसके बाद दलित शिक्षकों का गुस्सा शांत हुआ।
आरक्षण बचाओं संघर्ष समिति उ0प्र0 के संयोजकों सर्वश्री आर0पी0 केन, रीना रजक, अन्जनी कुमार, अंजली गौतम, अरविन्द, प्रभू शंकर, मनोज कुमार, अखिलेश सोनकर, सुनील कनौजिया, एस0सी0/एस0टी0 टीचर्स वेल्फेयर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश विद्रोही, वेद प्रकाश सरोज, अरूण कुमार सरोज, अर्जुन कुमार, नन्द राम, संतराम, इन्द्रेश राव, जे0के0 गौतम, रमेश राव, नन्द कुमार, सी0पी0 राव, राजेश पासवान, शिव देवी, राम समुझ सहित अनेकों पदाधिकारियों ने धरने को संबोधित करते हुये वेतन फ्रीज करने के आदेश को वापस करने की माॅग उठाई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here