छप्पन इंची सीने वाले ही इतिहास बदलते हैं : राजेंद्र कात्यायन

0
744
लखनऊ,11 अगस्त 2019: ‘काव्य  क्षेत्रे’ साहित्यिक संस्था के तत्वावधान में आयोजित सम्मान समारोह एवं काव्य गोष्ठी में ‘मोहन शोध संस्थान’ के संस्थापक अध्यक्ष वरिष्ठ कवि रवि मोहन अवस्थी  को ‘काव्य क्षेत्रे काव्य किरीट’ सम्मान से नवाजा गया.
यह सम्मान ‘काव्य क्षेत्रे ‘संस्था की ओर से कार्यक्रम के अध्यक्ष वरिष्ठ रचनाकार नरेन्द्र भूषण, अशोक पाण्डेय ‘अशोक ‘, डा.अजय प्रसून और संस्था के महासचिव राजेंद्र कात्यायन ने प्रदान किया.  इस अवसर पर राजेंद्र कात्यायन ने “कायर बुजदिल तो बस डर डर कर जीवन जीते हैं छप्पन इंची सीने वाले ही इतिहास बदलते हैं।” रचना सुनाकर देश प्रेम का संदेश दिया.
इसके साथ विभिन्न विधाओं के कवियों ने रसधार से सबको सराबोर कर दिया. रवि मोहन अवस्थी , डाॅ अजय प्रसून, नरेन्द्र भूषण, मंजुल मिश्र ‘मंज़र, चंद देव दीक्षित ‘संजय सांवरा, रवीन्द्र नाथ तिवारी, हरि मोहन वाजपेई माधव ने काव्य पाठ किया. संस्था के अध्यक्ष हरि मोहन वाजपेई ‘माधव’ ने सभी का स्वागत व आभार प्रकट किया.
बाल निकुंज इंटर कालेज श्रीनगर (मोहिबुल्लापुर) के सभागार में आयोजित इस कार्यक्रम में कवि और रचनाकारों ने मनमोहक प्रस्तुतियां देकर चार चांद लगा दिए. कार्यक्रम की शुरुआत रवि मोहन अवस्थी की वाणी वंदना से हुई. दीप प्रज्वलन नरेन्द्र भूषण ,अशोक पाण्डेय अशोक व बालनिकुंज इंटर कालेज के संचालक ह्रदय जयसवाल ने किया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here