यूपी के सैकड़ों गांवों में आज से लगेगी संघर्ष समिति की ‘आरक्षण बचाओ चौपाल’

0
समिति के संयोजक मण्डल द्वारा लखनऊ काकोरी के गांव दसदोयी में लगी ‘आरक्षण बचाओ चौपाल‘ जिसमें मिशन 2019 के तहत अम्बेडकरवादी सांसद ही चुनने हेतु किया गया जागरूक
लखनऊ, 20 जनवरी 2019: आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति ने कहा कि केन्द्र व उप्र सरकार द्वारा गरीब सवर्णों को जिस प्रकार से 10 प्रतिशत आरक्षण का कानून बनाकर लागू कर दिया गया है, वहीँ पिछले 5 वर्षों से जारी हमारे आन्दोलन पदोन्नति में आरक्षण को अभी तक लागू नहीं किया गया है यह पूरे देश के लाखों दलित कार्मिकों का अपमान नहीं तो और क्या है। संघर्ष समिति ने कहा कि दुर्भाग्यपूर्ण यह है कि लोकसभा व राज्यसभा में समाज के 131 दलित सांसद इस मामले पर चुप्पी साधे हैं। जिसके विरोध में आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उप्र के तत्वाधान में आज पूरे प्रदेश में विभिन्न जनपदों में सैकड़ों दलित बस्तियों में ‘आरक्षण बचाओ चौपाल‘ लगायी गयी।

संघर्ष समिति प्रान्तीय संयोजक मण्डल द्वारा ऐतिहासिक स्थल काकोरी लखनऊ के बसन्तखेड़ा दसदोयी गांव में आज ‘आरक्षण बचाओ चौपाल’ लगायी गयी। जिसमें सैकड़ों की संख्या में समाज के लोगों को जागरूक करते हुए उन्हें आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति संयोजक अवधेश कुमार वर्मा द्वारा इस बात की शपथ दिलायी गयी कि मिशन 2019 के तहत आने वाले चुनाव में आप सभी को बाबा साहब द्वारा बनायी गयी संवैधानिक व्यवस्था की रक्षा के लिये अम्बेडकरवादी विचारधारा का सांसद चुनना है, उन्होंने कहा कि जो सही मायने में संसद में आपके अधिकारों की लड़ाई को ईमानदारी से लड़े। सभी आरक्षण समर्थकों ने एक सुर में आबादी के अनुपात में पिछड़े वर्गों को भी आरक्षण दिये जाने व पदोन्नति में आरक्षण का लाभ दिये जाने की भी मांग उठायी।

इस अवसर पर आरक्षण बचाओ संघर्ष समिति,उप्र के संयोजकों सर्वश्री अवधेश कुमार वर्मा, डा रामशब्द जैसवारा, आरपी केन, अजय कुमार, श्याम लाल, अन्जनी कुमार, रीना रजक, दिग्विजय सिंह, बीना दयाल, अंजली,प्रेम चन्द्र, अशोक सोनकर, जितेन्द्र कुमार, प्रभुशंकर, योगेन्द्र रावत, रामेन्द्र कुमार, राजेश पासवान, जय प्रकाश, छोटे लाल, बलराम, सुनील कनौजिया ने कहा कि यह अभियान लगातार चलता रहेगा, इसका मुख्य उद्देश्य समाज के लोगों में यह जागरूकता फैलाना है कि उनके द्वारा अपने वोट का सही इस्तेमाल कर अम्बेडकरवादी विचारधारा का सांसद चुनना है, जिससे सही मायने में संविधान की रक्षा हो सके और दलित व पिछड़ों को उनका संवैधानिक अधिकार मिल सके।
संघर्ष समिति के विभिन्न विभागों के संयोजकों द्वारा वर्तमान में केन्द्र व राज्य सरकार की सरकारी योजनाओं जैसे सौभाग्या, एकमुश्त समाधान योजना, कृषि क्षेत्र की योजनाएं, शिक्षा, स्वास्थ्य, सिंचाई की योजनाओं के बारे में भी जागरूक किया गया, जिससे दलित व पिछड़े समाज के लोग इसका लाभ उठा पायें। समिति के संयोजकों ने ग्रामसभा दसदोयी के ग्राम प्रधान श्री अनिल कुमार का व्यक्त किया आभार।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here