पर्यावरण महाकुंभ में राज्यपाल की सक्रिय भागीदार

0
342
लखनऊ, 09 अगस्त 2019: उत्तर प्रदेश पर्यावरण महाकुंभ का इतिहास लिख रहा है। उत्तर प्रदेश की जनसंख्या के अनुरूप बाइस करोड़ पौधों का रोपण हो रहा है। राज्यपाल आनन्दी बेन पटेल ने इस पर्यावरण कुम्भ में  सक्रिय भागीदारी की। अगस्त क्रांति दिवस पर उन्होंने पौधरोपण की अलख जगाई। इसकी शुरुआत उन्होंने राजभवन से की।
उन्होंने स्वयं राजभवन में बरगद का पौधा लगाया। उनकी प्रेरणा से राजभवन परिसर में निवास करने वाले अधिकारी, कर्मचारी व उनके परिजनों द्वारा राज्यपाल के साथ ही अमरूद, आम, आवंला, कचनार, मौलश्री, पीपल, बरगद, हरसिंगार आदि के नब्बे पौधे लगाए। आनंदीबेन पटेल ने वृक्षारोपण महाकुंभ में राजभवन परिसर में रहने वाले परिवार सहभाग का आह्वान किया था।
उन्होंने कहा था कि राजभवन परिसर के अधिकारियों एवं कर्मचारियों के बच्चों से वृक्षारोपण कराया जाये। जिससे कि बच्चा स्वयं के बढ़ने के साथ-साथ पौधे को भी विकसित होता देख सके। प्रत्येक बच्चा एक पौधे को गोद लेगा और पौधे के साथ बच्चे के नाम की पट्टिका भी लगाई जाएगी। आगे चलकर उसके लिये भी यादगार रहेगा।
राजभवन के इस आयोजन के बाद राज्यपाल ने कासगंज में पौधा रोपित कर किया वृक्षारोपण महाकुंभ का शुभारम्भ किया।
यहां करीब तीन लाख नब्बे हजार पौधे रोपित किये जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। राज्य सरकार ने  भारत छोड़ो आंदोलन की सतहत्रहवी वर्षगांठ पर एक व्यक्ति एक वृक्ष अभियान शुरू किया, आनन्दी बेन ने इसके लिए लोगों को प्रेरणा दी।
राज्यपाल  बनने के बाद पहली बार यह उनका लखनऊ से बाहर का कार्यक्रम था। इसमें उन्होंने पर्यावरण संरक्षण का सन्देश दिया। यहां उन्होंने गोस्वामी  तुलसीदास की पावन जन्मस्थली एवं देश को आजाद कराने वाले शहीदों को नमन किया।
कहा कि पर्यावरण चिंता का विषय है। जहाँ बारिश नहीं होती थी वहाँ बाढ़ की स्थिति है और जहाँ बारिश होती थी वह क्षेत्र सूखाग्रस्त हो रहा है। भावी पीढ़ी के लिये हमें पर्यावरण और जल को बचाना है। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने इसीलिये जल विभाग सृजित किया है। पर्यावरण एवं जल संरक्षण में महिलाओं एवं बच्चों की भागीदारी सुनिश्चित होनी चाहिए।
उतने ही पानी का उपयोग करना चाहिए, जितनी आवश्यकता हो। लोग आधा पानी पीते हैं आधा छोड़ देते हैं जो बर्बाद होता है। बच्चे भी बड़े काम कर सकते हैं। इसी प्रकार संतान की भांति पौधों का संवर्धन व संरक्षण करना चाहिए।
डॉ दिलीप अग्निहोत्री
Please follow and like us:
Pin Share

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here