बहुजन समाज की पैतृक जातियों से विकास आज भी कोसो दूर: लक्ष्य

0
267

लखनऊ, 19 सितम्बर 2018: लक्ष्य की महिला टीम ने ‘लक्ष्य घर-घर की ओर’ अभियान के तहत लखनऊ के एलडीए कालोनी में एक दिवसीय कैडर कैम्प का आयोजन किया।

लक्ष्य कमांडर मालती कुरील, खुसबू गौतम व् अनीता गौतम ने कहा कि आज भी बहुजन समाज की कुछ जातियां अपने पैतृक कार्यो में लिप्त है और विकास उनसे कोसो दूर है। उन्होंने कहा कि जिन जातियों ने अपने पैतृक कार्यो से मुक्ति ले ली है उन जातियों पर विकास की किरणे पड़ने लगी है।

लक्ष्य कमांडर रागिनी चौधरी, प्रतिभा राव व् रचना कुरील ने शिक्षा पर जोर देते हुए कहा कि बहुजन समाज की जिन जातियों ने बाबा साहब डॉ भीमराव अम्बेडकर के बताये मार्ग को अपनाया तो उन जातियों ने शिक्षा को भी अपना सर्वप्रथम मार्ग बनाया है परिणाम स्वरूप उन जातियों के लोग अपने जीवन में विकास की ऊंचाइयों को छू रहें है।

लक्ष्य कमांडर रेखा आर्या व् राधा बौद्ध ने बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर की शिक्षाओं को विस्तार से बताया। उन्होंने दुःख प्रकट करते हुए कहा कि वाल्मीकि समाज आज भी अपने पैतृक कार्य में लिप्त है जिसके कारण वो आज भी विकास से कोसो दूर है।

उन्होंने वाल्मीकि समाज से अपील करते हुए कहा कि वो बाबा साहेब डॉ भीमराव अम्बेडकर के बताये मार्ग को अपनाये और अपने पैतृक कार्य को जल्द जल्द त्याग दे ताकि आप भी विकास के पायदान पर चढ़ सके। उन्होंने वाल्मीकि समाज से अनुरोध करते हुए कहा कि वो अपने बच्चो के हाथ में झाड़ू न देकर कलम दे ताकि वो भी मानवीय जीवन जी सके।

लक्ष्य कमांडर संघमित्रा गौतम, दुर्गावती देवी व् नीलम ने तथागत गौतम बुद्ध की शिक्षाओं पर प्रकाश डाला तथा उनको अपने जीवन में उतारने की अपील की। उन्होंने कहा कि गौतम बुद्धा की शिक्षाएं हमें बरोबरी का मार्ग दिखती है और जहाँ कोई भेदभाव व् अंधविस्वास का नमो निशान नहीं है।

लक्ष्य कमांडर चेतना राव, सरोजनी व् छोटे लाल कुरील ने सभी लोगो का धन्यवाद किया और लखनऊ में लक्ष्य को और मजबूत करने का संकल्प लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here