फ्रांस में तेल महंगा होने से प्रदर्शन, हिंसा में एक की मौत

0
47

पैरिस, 20 नवंबर 2018: फ्रांस में डीजल पेट्रोल और गैसोलीन की बढ़ती कीमतों के खिलाफ जगह जगह प्रदर्शन शुरू हो रहे हैं। उग्र प्रदर्शन के दौरान जमकर हिंसा भी हुई। प्रदर्शन में हुई हिंसा से एक महिला की मौत हो गई, वहीं 400 से अधिक प्रदर्शनकारी गंभीर रूप से घायल हो गए। फ्रांस के गृहमंत्री के स्टाफ कैस्टर ने कहा घायलों की संख्या इससे भी दोगुना ज्यादा हो सकती है।

फ्रांस के 87 अलग-अलग स्थानों पर प्रदर्शनकारियों ने सड़कें बंद कर दी, लोगों का आना-जाना बाधित हुआ। फ्रांस के गृहमंत्री क्रिस्टोफ के अनुसार लगभग 3 लाख लोगों ने येलो वेस्ट प्रोटेस्ट में 2034 स्थानों में चल रहे प्रदर्शन में भाग लिया है। 3500 से अधिक प्रदर्शनकारी अभी भी जमे हुए हैं। पुलिस ने 282 प्रदर्शनकारियों को पूछताछ के लिए हिरासत में लिया था, जिसमें से 157 अभी भी हिरासत में है।

उल्लेखनीय है फ्रांस की मैक्रो सरकार ने गैसोलीन और डीजल पर ग्रीन टैक्स लगा दिया है, जिसके कारण 1 साल के अंदर डीजल के दाम 20 फ़ीसदी से ज्यादा बढ़ चुके हैं। सोशल मीडिया में देशभर में प्रदर्शन करने की अपील की गई थी, उसके बाद देशभर में प्रदर्शन की बाढ़ आ गई। टैक्स बढ़ाने के विरोध में पीले रंग की जैकेट पहनकर प्रदर्शनकारी सड़कों पर उतर गए।

डीजल और गैसोलीन की बढ़ती कीमतों और महंगाई बढ़ने से राष्ट्रपति एमैनुएल मैक्रो की लोकप्रियता 25 फीसदी से ज्यादा गिर गई है। सर्वेक्षण के दौरान केवल 4 फ़ीसदी लोगों ने ही राष्ट्रपति के कामकाज को लेकर संतुष्टि जताई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here