अलविदा केपलर

0
48
साभार: गूगल
  • टेलीस्कोप केपलर को अंतिम निर्देशों के साथ मिली छुट्टी
  • केपलर ने बताया था कि हमारी आकाशगंगा में तारों से ज्यादा ग्रह है

नई दिल्ली, 18 नवंबर 2018: हमारे सौरमंडल से बाहर स्थित हजारों ग्रह खोजने वाले नासा के टेलीस्कोप केपलर को धरती से संपर्क तोड़ने का अंतिम निर्देश मिल गया है। केपलर ने बताया था कि हमारी आकाशगंगा में तारों से ज्यादा ग्रह है मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी ने शुक्रवार की रात एक बयान में कहा, ‘गुडनाइट निर्देशों से अंतरिक्ष यान की सेवानिवृत्ति का अंतिम निर्धारण होता है जो 30 अक्टूबर को नासा की उस घोषणा से शुरू हुआ था कि कैपलर का ईधन खत्म हो गया है और वह अब और सव्रेक्षण नहीं कर सकता।’

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक केपलर को आराम करने का निर्देश इसी नाम के जर्मन खगोलविद् जोहानिस केपलर की 388वीं जयंती के मौके पर मिला है। जोहानिस केपलर ने ग्रहों की गति के नियम की खोज की थी। उनका निधन 15 नवंबर, 1630 को हो गया था। टेलीस्कोप केपलर के कारण ही पता चल सका कि हमारे सौरमंडल से बाहर भी कई दुनिया मौजूद हैं।

नासा ने कहा, ‘शोध के दौरान हमने पाया कि हमारी आकाशगंगा में तारों से ज्यादा ग्रह हैं।’ अंतरिक्षयान सूर्य से चारों तरफ पृवी से 9.4 करोड़ मील दूर एक सुरक्षित कक्षा में चक्कर काट रहा है। छह मार्च 2009 को लांच किए गए कैपलर टैलीस्कोप में ‘‘कटिंग-एज’ तकनीक, तारकीय चमक और उस समय का सबसे बड़ा डिजिटल कैमरा लगाया गया था, ताकि अंतरिक्ष से बाहर का नजारा देखा जा सके। 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here