कोरोनाबंदी के दौर में ट्रेन में जन्में ‘लॉकडाउन यादव’ के उज्ज्वल भविष्य की कामना: अखिलेश यादव

0
342
  • आशा है नोटबंदी के समय लाइन में जन्म लेने पर मजबूर ‘खजांची’ अब अकेला महसूस नहीं करेगा
  • अखिलेश यादव ने सरकार पर किया कटाक्ष, पूछा-‘उप्र में कोई सरकार है क्या?’

लखनऊ, 29 मई 2020: समाजवादी पार्टी(सपा)के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने चीनी मिलों पर बकाया भुगतान को यूपी सरकार को लेकर घेरा है। इसके साथ ही कहा कि एक सप्ताह के अंदर चीनी मिलें गन्ना कटाई का दबाव डाल रही हैं, जो कोरोना संकट काल में संभव नहीं है। उन्होंने लिखा कि उत्तर प्रदेश में कोई सरकार है क्या? इसके साथ ही ट्रेन में जन्मे एक बच्चे ‘लाकडाउन यादव’ को लेकर कटाक्ष किया है। कहा है की नोटबंदी के समय लाइन में जन्मा ‘खंजाची’ अब अकेला महसूस नहीं करेगा।

शुक्रवार को सुबह अखिलेश यादव ने एक गन्ना लदी कतार बद्ध ट्रैक्टर का विडियो शेयर करते हुए लिखा है कि ‘पश्चिमी उप्र से लगातार गन्ना किसानों के चीनी मिलों पर बकाया भुगतान, बच्चों की फ़ीस न दे पाने और घर न चला पाने जैसी समस्याओं की ख़बरें आती हैं, अब चीनी मिलें किसानों पर एक हफ़्ते के अंदर ही कटाई का दबाव डाल रही हैं, जो कोरोना-संकटकाल में संभव नहीं है। उन्होंने व्यंग्य करते हुए लिखा है कि ‘उप्र में कोई सरकार है क्या?’

एक दूसरे ट्वीट में उन्होंने एक अखबार की कटिंग लगाते हुए लिखा है कि ‘कोरोनाबंदी के दौर में ट्रेन में जन्मे ‘लॉकडाउन यादव’ के उज्ज्वल भविष्य की कामना। आशा है नोटबंदी के समय लाइन में जन्म लेने पर मजबूर ‘खजांची’ अब अकेला महसूस नहीं करेगा। अब भाजपा सरकार ये सुनिश्चित करे कि इन बच्चों की आगामी यात्रा, इनके जन्म जैसी कटु परिस्थितियों से बहुत बेहतर हो।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here