केजरीवाल और उपराज्यपाल बैजल में बढ़ी तकरार, मुख्यमंत्री को भेजी जाने वाली फ़ाइलों को लीक करने का आरोप लगाया

0
869
vs

मनीष सिसोदिया के घर पहुंची सीबीआई

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल मुख्यमंत्री ने आरोप लगाया है कि CM ऑफिस तक फाइल पहुंचने के पहले ही बीजेपी नेता विजेंद्र गुप्ता ने बयान दे दिया. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपराज्यपाल अनिल बैजल के बीच एक बार फिर ठन गई है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल कार्यालय पर मुख्यमंत्री को भेजी जाने वाली फ़ाइलों को लीक करने का आरोप लगाया है. अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल को चिट्ठी लिखकर यह सवाल पूछा है कि उपराज्यपाल के कार्यालय से मुख्यमंत्री कार्यालय को भेजी जाने वाले फाइल की कॉपी बीजेपी को पहले पहुंच जाना कितना उचित है? विजेंद्र गुप्ता मंडियों के गठन में नियमों की अवहेलना की शिकायत लेकर उपराज्यपाल से मिले थे.

जानकारी के अनुसार , अरविंद केजरीवाल सरकार की तरफ से दिल्ली में 6 मंडी समितियों के गठन की अनुमति की फाइल उपराज्यपाल अनिल बैजल ने केजरीवाल सरकार को लौटा दी थी और उनसे पूछा था कि क्या मंडी समितियों में चयन के लिए सभी प्रक्रियाओं का पालन हुआ है? मंडी समिति के गठन के केजरीवाल सरकार के फैसले के खिलाफ नेता विपक्ष और बीजेपी नेता विजेंद्र गुप्ता उप राज्यपाल से मिले थे और मामले में नियमों की अवहेलना का आरोप लगाया था.

विजेंद्र गुप्ता की शिकायत के बाद उपराज्यपाल अनिल बैजल ने मुख्यमंत्री कार्यालय को फाइल लौटा कर जवाब मांगा था. मुख्यमंत्री कार्यालय का आरोप है कि बुधवार की शाम को उपराज्यपाल दफ्तर से मुख्यमंत्री के दफ्तर को भेजी गई फाइल की प्रति पहले से ही नेता विपक्ष विजेंद्र गुप्ता तक पहुंच गई, जिसके चलते उन्होंने बुधवार सुबह ही मीडिया को इसकी जानकारी दे दी. एलजी को भेजी चिट्ठी में अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल को अखबार की एक खबर की प्रति भी भेजी है, जिसमें विजेंद्र गुप्ता द्वारा मीडिया को दिए गए बयान भी शामिल है. आपको बता दें कि दिल्ली की जिन 6 थोक मंडियों की समिति को लेकर अरविंद केजरीवाल और एलजी में ठनी है वह हैं आज़ादपुर, नरेला, केशोपुर, ग़ाज़ीपुर सब्ज़ी मंडी, ग़ाज़ीपुर फूल मंडी और ग़ाज़ीपुर मुर्गा मंडी.

मनीष सिसोदिया के घर सीबीआई
दिल्ली के उप-मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर पर केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की टीम पहुंची है। मीडिया ख़बरों के अनुसार सीबीआई एक पुराने मामले में डिप्टी-सीम सिसोदिया का स्पष्टीकरण लेने पहुंची है। सीबीआई के मनीष सिसोदिया के घर पहुंचने की खबर आने के बाद एजेंसी ने मीडिया से कहा कि वो डिप्टी सीएम सिसोदिया के घर पर किसी तरह का छापा नहीं मार रही है। सीबीआई ने कहा कि वो पहले से चल रही एक जांच से जुड़े कुछ मसलों पर डिप्टी सीएम सिसोदिया का स्पष्टीकरण लेने आई है। हालांकि सीबीआई ने ये नहीं बताया कि वो किसी मामले में स्पष्टीकरण लेने आई है।
इसी साल सीबीआई ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के सोशल मीडिया कैम्पेन “‘टॉक टू एके” में मामला दर्ज करते हुए डिप्टी सीएम सिसोदिया को भी आरोपी बनाया था। सीबीआई दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार द्वारा अस्पतालों में दवा एवं अन्य उपकरण खरीदने, ठेके देने और नियुक्ति में कथित घोटाले की भी जांच कर रही है। दिल्ली में वाटर टैंक घोटाले की भी सीबीआई जांच कर रही है। आम आदमी पार्टी और दिल्ली सरकार केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार और भारतीय जनता पार्टी पर सीबीआई के दुरुपयोग का आरोप लगाते रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here