Home इंडिया राजा ने अपनी प्रियतमा मृगनयनी के लिये बनवाया था गुजरी महल

राजा ने अपनी प्रियतमा मृगनयनी के लिये बनवाया था गुजरी महल

15
1864

ग्वालियर किले के भूतल भाग में गुजरी महल स्थित है। यह प्रसाद तोमर वंश के यशस्वी राजा मानसिंह तोमर सन् 1486-1516 ई. ने अपनी प्रियतमा गूजरी रानी मृगनयनी के लिये बनवाया था।

गूजरी रानी की शर्त के अनुसार राजा मानसिंह ने मृगनयनी के मैहर राई गांव जो ग्वालियर से 16 मील दूर स्थित था वहां से पाइप के द्वारा पीने का पानी लाने की व्यवस्था की थी।

गुजरी महल, जिला ग्वालियर, मध्यप्रदेश

गूजरी महल 71 मीटर लम्बा एवं 60 मीटर चौड़ा आयताकार भवन है जिस के आंतरिक भाग में एक विशाल आॅगन है। गूजरी महल का बाहरी रूप आज भी प्रायः पूरी तरह से सुरक्षित है महल के प्रस्तर खण्डों पर खोदकर बनाई गई कलातम्क आकृतियों में हाथी, मयूर, झरोखे आदि एवं बाह्य भाग में गुम्बदाकार छत्रियों की अपनी ही विशेषता है तथा मुख्य द्वार पर निर्माण संबंधी फारसी शिलालेख लगा हुआ है सम्पूर्ण महल को रंगीन टाइल्स से अलंकृत किया गया था, कहीं-कहीं प्रस्तर पर बड़ी कलात्मक नयनाभिराम पच्चीकारी भी देखने को मिलती है।

भीतरी भाग में पुरातात्विक संग्रहालय की स्थापना सन 1920 में श्री एम.वी.गर्दे द्वारा कराई गई थी जिसे सन् 1922 में दर्शकों के लिये खोला गया था संग्रहालय के 28 कक्षों में म.प्र. की विभिन्न कलाकृतियों का ई.पू. दूसरी शती ई. से 17 वीं शती ई. तक की पुरातात्विक धरोहरों का प्रदर्शन किया गया है।

गुजरी महल में मध्यप्रदेश राज्य का संग्रहालय सबसे पुराना संग्रहालय है। जिसमें मध्यप्रदेश के पुरातत्व इतिहास से संबंधित महत्वपूर्ण शिलालेख भी रखे गए हैं और विदिशा के बेसनगर, पवाया से प्राप्त महत्वपूर्ण पाषाण प्रतिमाएं रखी हुई हैं। के अतिरिक्त संग्रहालय में सग्रहीत पुरा सामग्री में पाषाण प्रतिमाएं, कांस्य प्रतिमाएं, लघुचित्र, मृणमयी मूर्तियां, सिक्के तथा अस्त्र-शस्त्र प्रदर्शित है। इनमें विशेष रूप से दर्शनीय ग्यारसपुर की शालभंजिका की मूर्ति है।

15 COMMENTS

  1. whoah this blog is great i really like reading your articles.
    Stay up the great work! You recognize, lots of people are searching round for this
    information, you can aid them greatly.

  2. Howdy, i read your blog occasionally and i own a similar
    one and i was just wondering if you get a lot
    of spam responses? If so how do you reduce it, any plugin or anything you
    can recommend? I get so much lately it’s driving me crazy so any support is very much appreciated.

  3. I’m curious to find out what blog system you happen to be utilizing?
    I’m having some small security issues with my latest
    blog and I’d like to find something more safeguarded.

    Do you have any solutions?

  4. I have been surfing on-line greater than three hours these days, but I by no means
    found any attention-grabbing article like yours.
    It’s beautiful value enough for me. In my view, if all website owners and bloggers made just right content
    material as you did, the internet will be a
    lot more helpful than ever before.

  5. exceptional install, incredibly enlightening. I’m pondering so why the exact opposite pros for this segment do
    not understand this unique. It’s essential to continue
    your personal authoring. Read, you’ve a tremendous readers’ bottom
    part presently!

  6. I loved as much as you will receive carried out right here.
    The sketch is tasteful, your authored subject matter stylish.

    nonetheless, you command get got an nervousness over that you wish be
    delivering the following. unwell unquestionably come more formerly again as exactly the same nearly very often inside case you shield this increase.

  7. You probably help it become seem so easy using your web presentation even so acquire this matter to generally be really an element that It is my opinion We’d certainly not recognize.
    It seems likewise complicated and intensely general for my situation. I am just excited for the next submit, I’ll try and learn it all!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here