जै मॉ गर्जिया देवी: आपने मुराद पूरी कर दी!

0
73

भगवान शिव की अर्धांगिनि मां पार्वती का एक नाम गिरिजा भी है

ईश्वर में आस्था रखने वाले लोग आज भी अपने आराध्य को पाने और देखने के लिए किसी भी पवित्र स्थान पर ईश्वर की प्राप्ति के लिए पहुंच जाते हैं और ऐसे में ईश्वर भी उन्हें निराश नहीं करते है यही कारण है कि भक्त का ईश्वर के प्रति प्रेम और अटूट विश्वास आज भी कायम है। ऐसा ही एक पवित्र स्थल हैं माँ गिरिजा देवी का जो प्राकृतिक खूबसूरत नज़रों से भरपूर हैं।

उत्तराखंड के रामनगर से 10 किलोमीटर की दूरी पर ढिकाला मार्ग पर गर्जिया नामक स्थान पर देवी गिरिजा माता के नाम से प्रसिद्ध हैं। कोसी (कौशिकी) नदी के मध्य एक टीले पर यह मंदिर स्थित है। भगवान शिव की अर्धांगिनि मां पार्वती का एक नाम गिरिजा भी है, गिरिराज हिमालय की पुत्री होने के कारण उन्हें इस नाम से भी बुलाया जाता है।

खास बात यह है कि इस मन्दिर में मां गिरिजा देवी के सतोगुणी रुप में विद्यमान है। जो सच्ची श्रद्धा से ही प्रसन्न हो जाती हैं, वर्तमान में इस मंदिर में गर्जिया माता की 4.5 फिट ऊंची मूर्ति स्थापित है, इसके साथ ही सरस्वती, गणेश जी तथा बटुक भैरव की संगमरमर की मूर्तियां मुख्य मूर्ति के साथ स्थापित हैं। इसी परिसर में एक लक्ष्मी नारायण मंदिर भी स्थापित है, इस मंदिर में स्थापित मूर्ति यहीं पर हुई खुदाई के दौरान मिली थी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here