Home विदेश ये फ्लाइट के पायलट भी हैं और किंग भी

ये फ्लाइट के पायलट भी हैं और किंग भी

0
519

राजाओं के शौक भी बड़े अजीब होते हैं. इनके शान-ओ-शौकत के क्या कहने. बीते जमाने में हमारे यहां जूनागढ़ के महाराज के पास कुल 800 कुत्ते हुआ करते थे. महाराजा को कुत्तों से बड़ा लगाव था।

वहीं अलवर के महाराजा जय सिंह शहर का कचरा उठवाने के लिए लन्दन से एक ही बार में 10 रॉयल रोयस खरीद कर लाए थे. इस तरह के और भी किस्से हैं भारतीय राजाओं के।

विदेशी राजाओं के भी कुछ ऐसे ही किस्से होते हैं. जैसे हॉलैंड के राजा विलेम-अलेक्जांडर को हवाई जहाज उड़ाना बहुत पसंद है. वह हॉलैंड की सबसे बड़ी एयरलाइन कंपनी के एलएम के लिए लंबे अरसे से बतौर को-पायलट विमान उड़ा रहे हैं।

इस मामले में किंग विलेम-अलेक्जांडर ने खुद बताया कि वो महीने में दो बार केएलएम रॉयल डच एयरलाइंस की फ्लाइट के को-पायलट बनते हैं. इस दौरान राजा एयरलाइन की पोशाक पहनते हैं. कॉकपिट में कैप्टन के साथ वह एक राजा नहीं बल्कि को-पायलटकी हैसियत से बैठते हैं।
उड़ान के दौरान चेकलिस्ट देखना, एयर ट्रैफिक कंट्रोलर से बात करना और कई बार मुख्य पायलट की भूमिका निभाने का काम वह बखूबी करते हैं.इस सौक के बारे में उन्होंने कहा, “मुझे उड़ान भरना अद्भुत लगता है।”

लंबे अरसे तक राजकुमार रहे विलेम-अलेक्जांडर को साल 2013 में ही हॉलैंड के राजा का पद मिला. लेकिन इसके बावजूद उन्होंने जहाजउड़ाना नहीं छोड़ा।

वह कहते हैं, “आपके पास एक विमान है, यात्री हैं और चालक दल के सदस्य भी. आप उनके प्रति जिम्मेदार हैं. आप अपनी निजी समस्याएं हवा में नहीं ले जा सकते. आप अपनी निजी सोच को बिल्कुल बंद कर देते हैं और किसी और चीज पर एकाग्र हो जाते हैं.इससे मुझे बड़ा आराम मिलता है.”

अब राजा बोइंग 737 विमान उड़ाने की ट्रेनिंग लेने जा रहे हैं. उस विमान के साथ भी वह हफ्ते में दो बार उड़ान भरेंगे. राजा के मुताबिक इस दौरान वह यात्रियों से अपनी पहचान छुपाते रहेंगे.