भाजपा सरकार में आरक्षण अब भी प्रभावहीन बना हुआ है: मायावती

0
85
  • गठबंधन की आंधी में दरक गयी भाजपा की नींव: अखिलेश यादव
  • बलिया में सपा प्रत्याशी सनातन पाण्डेय की संयुक्त रैली में बोलीं मायावती: भाजपा की नीतियां भी जातिवादी और आम आदमी विरोधी

नई दिल्ली, 15 मई 2019: सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को बलिया में आयोजित चुनाव रैली में कहा कि पहले चरण से ही गठबंधन के प्रति जनता का समर्थन बढ़ रहा है। आजादी के 70 सालों में जिन्हें हक और सम्मान नहीं मिला, उनका बना यह गठबंधन देश की राजनीति में बदलाव लायेगा। उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव में गठबंधन की चल रही आंधी में भाजपा की नींव दरक गई है।

Image may contain: one or more people, people standing, crowd and outdoor

बसपा प्रमुख मायावती ने भाजपा राज में सवर्ण समाज की स्थिति खराब होने का आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा सरकार में आरक्षण अब भी प्रभावहीन बना हुआ है। गठबंधन के दोनों नेताओं ने बलिया में सपा प्रत्याशी सनातन पाण्डेय के समर्थन में संयुक्त रैली की। बाद में अखिलेश ने सनातन के समर्थन में एक अन्य चुनावी सभा को भी सम्बोधित किया। 

Image may contain: 9 people, people smiling, crowd

उन्होंने आरोप लगाया कि पांच साल तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जनता को धोखा दिया और छल कर सरकार बनायी मगर इस चुनाव में गठबंधन की जो आंधी चल रही है, उसमें भाजपा की नींव दरक गई है। अखिलेश ने कहा कि भाजपा ने अपने पांच साल के कार्यकाल में किसानों, नौजवानों, व्यापारियों सभी को ठगा। चायवाला बनकर सत्ता हासिल करने वाले अब चौकीदार के नाम पर धोखा देने आ गये हैं मगर जनता इन्हें समझ चुकी है और अब इनकी चौकी छीनने को तैयार है।

Image may contain: 1 person, smiling, text
गठबंधन की आंधी में दरक गयी भाजपा की नींव: अखिलेश यादव

बसपा अध्यक्ष मायावती ने भाजपा और कांग्रेस को एक ही सिक्के के दो पहलू बताया। उन्होंने कहा कि इन दोनों पार्टियों की गलत नीतियों के कारण ही देश में न तो गरीबी व बेरोजगारी दूर हुई और न ही किसान खुशहाल हुआ। उन्होंने कांग्रेस की तरह ही भाजपा की नीतियों को पूंजीवादी, साम्प्रदायिक, द्वेषपूर्ण, जातिवादी और आम आदमी विरोधी बताया।

मायावती ने केन्द्र में गठबंधन की सरकार बनने पर गरीब परिवारों को सरकारी और गैर सरकारी दोनों ही क्षेत्रों में स्थायी रोजगार देने की घोषणा की, साथ ही कहा कि सपा-बसपा व रालोद का यह गठबंधन मजबूत है और लम्बा चलेगा। सही मायने में यह गठबंधन सामाजिक परिवर्तन का है। इससे ही भाजपा घबरा गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here