सचिन ने कन्धा दिया अपने गुरु को

0
158

मुंबई के मैदान ने खोया क्रिकेट के एक बादशाह कोच को

मुंबई, 03 जनवरी 2019: सचिन तेंदुलकर के गुरु रमाकांत बिट्ठल अचरेकर अब नहीं रहे हैं। बता दें कि श्री रमाकांत अचरेकर का 87 वर्ष की उम्र में बुधवार को लंबी बीमारी के बाद मुंबई में निधन हो गया। उल्लेखनीय है कि 90 के दशक में एक समय ऐसा भी था जब टीम इंडिया में उनके तीन शिष्य सचिन तेंदुलकर, विनोद कांबली और प्रवीण आमरे एक साथ खेल रहे थे। उन्होंने 87 साल की उम्र में अंतिम सांस ली। उनके शिष्य सचिन ने भी अपना धर्म निभाते हुए आज उनके अंतिम समाये में उन्हें कन्धा दिया।

उनके परिवार के एक सदस्य ने मीडिया को जानकारी देते हुए कहा कि बढ़ती उम्र से जुड़ी बीमारियों के कारण उनका निधन हुआ। टेस्ट क्रिकेट में 15921 रन वनडे में 18426 रन और दोनों फॉर्मेट को मिलाकर अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में शतकों का शतक लगाकर रिटायरमेंट लेने वाले बेमिसाल सचिन तेंदुलकर की खोज का श्रेय भी श्री अचरेकर को ही जाता है

बता दें कि सचिन के बचपन के दिनों में अचरेकर मुंबई के सबसे प्रतिष्ठित कोच थे। अचरेकर से ट्रेनिंग दिलाने के लिए सचिन का स्कूल भी बदला गया। बांद्रा से दादर के शिवाजी पार्क तक ट्रेनिंग के लिए आने मैं सचिन को कठिनाई न हो इसलिए उनके रहने की जगह भी बदली गई। इस दौरान सचिन ने भी अपना धर्म निभाया और उन्होंने अपने गुरु को अंतिम समय में कंधा दिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here