यूपी में 8 जुलाई से सिस्टम लोडिंग व्यवस्था समाप्त, नया कनेक्शन भी हुआ सस्ता

0
380
  • नियामक आयोग का ऐतिहासिक आदेश जारी: उपभोक्ताओं में खुशी की लहर, मीटर की कास्ट भी हुयी सस्ती, अब कोई भी किसान 1 एचपी से लेकर 7 एचपी तक सिंगल फेस टयूबबेल का कनेक्शन लेने हेतु है अधिकृत, उपभोक्ता परिषद की लम्बी लडाई काम आयी 

लखनऊ,03 जुलाई 2019: विद्युत नियामक आयोग द्वारा गठित कानून बनाने वाली विद्युत वितरण संहिता रिव्यू पैनल कमेटी द्वारा 29 अप्रैल को पारित प्रस्ताव के बाद नियामक आयोग अध्यक्ष श्री आर पी सिंह व सदस्य श्री के के शर्मा द्वारा आज नयी कास्ट डाटा बुक जारी कर दी गयी है जो पूर प्रदेश में 8 जुलाई 2019 से लागू हो जायेगी। अन्ततः वह दिन आ गया जब पूरे प्रदेश से सिस्टम लोडिंग चार्ज वसूलने की व्यवस्था पूरी तरह से समाप्त हो गयी है। जिसको लेकर उपभोक्ता परिषद लम्बे समय से लडाई लड रहा था और रिव्यू पैनल की कमेटी में समाप्त करने का प्रस्ताव रखा था। जहाॅं घरेलू ग्रामीण किसानों व छोटे विद्युत उपभोक्ताओं के सिक्योरिटी व प्रोसेसिंग फीस में कोई बदलाव नहीं किया गया है वहीं अब घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं के नये कनेक्शन की दरें अब प्रदेश में सस्ती हो जायेंगी।

  • 1 किलोवाट बीपीएल पुराने कनेक्शन की दर रूपया 1415 1 किलोवाट बीपीएल नये कनेक्शन की दर रूपया 1280
  • 1 किलोवाट पुराने कनेक्शन की दर रूपया -1755 1 किलोवाट नये कनेक्शन की दर रूपया -1620
  • 2 किलोवाट पुराने कनेक्शन की दर रूपया -2105 2 किलोवाट नये कनेक्शन की दर रूपया -1970
  • 5 किलोवाट पुराने कनेक्शन की दर रूपया -7100 5 किलोवाट नये कनेक्शन की दर रूपया -7057

बड़े विद्युत उपभोक्ताओं की सिक्योरिटी राशि में थोड़ी सी बढ़ोत्तरी की गयी है। प्रदेश में सिस्टम लोडिंग चार्ज पूरी तरीके से समाप्त करने के निर्णय से बड़े पैमाने पर उपभोक्ताओं में खुशी की लहर है। अतिरिक्त सिक्योरिटी राशि जमा कराने के मामले में अब 2 महीने के बिल के स्थान पर मात्र 45 दिन की व्यवस्था लागू होगी, क्योंकि बिलिंग साइकिल 2 माह के स्थान पर अब एक माह पर आधारित।

कास्ट डाटा बुक के अनुसार ही उपभोक्ताओं को नया विद्युत कनेक्शन सिक्योरिटी सिस्टम लोडिंग चार्जेज व सभी प्रकार की लाइनों व स्टीमेट का प्राकलन तैयार किया जाता है।

उप्र राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद के अध्यक्ष व विद्युत वितरण संहिता रिव्यू पैनल कमेटी के सदस्य अवधेश कुमार वर्मा ने ने कहा विद्युत अधिनियम 2003 लागू होने के बाद सिस्टम लोडिंग चार्ज की वसूली समाप्त कराने को लेकर उपभोक्ता परिषद लम्बे समय से लडाई लड रहा था और उपभोक्ता परिषद के प्रस्ताव पर 29 अप्रैल को सर्वसम्मति से निर्णय ले लिया गया था जिसके बाद आज नियामक आयोग द्वारा नयी कास्ट डाटा बुक जारी की गयी। अभी तक रू0 50 प्रति किलोवाट से लेकर लाखों करोड़ों उद्योगों के मामले में सिस्टम लोडिंग नया कनेक्शन लेते वक्त उपभोक्ताओं को देना पडता था।

उपभोक्ता परिषद की इस मांग पर भी मुहर लगा दी गयी कि अब एलटी वितरण मेन्स के आगे 40 मीटर तक 2 उपभोक्ता एक साथ यदि विद्युत का कनेक्शन मांगेंगे तो उन्हें विभाग द्वारा एक खम्भे की लाइन 40 मीटर की परिधि तक फ्री में बनाकर दी जायेगी। पहले यह व्यवस्था 3 कनेक्शन पर लागू थी। आयोग द्वारा इस व्यवस्था को और भी स्पष्ट कर दिया गया है कि अब सिंगल फेस पर कोई भी किसान 1 एचपी से 7 एचपी तक ट्यूबवेल का कनेक्शन ले सकता है।

कास्ट डाटा बुक में यह भी व्यवस्था लागू की गयी है कि पहले जो मीटर की कास्ट सिंगल फेस कनेक्शन पर 980 वसूल की जाती थी अब उसे घटाकर रू0 872 कर दिया गया है। इसी प्रकार 3 फेस मीटर पर पहले जो रू0 2956 वसूला जाता था, अब वह रू0 2668 लिया जायेगा। प्रीपेड मीटर की दरें लगभग यथावत हैं, लेकिन प्रीपेड 3 फेस मीटर की जो दर पहले रू0 12000 थी उसे अब घटाकर रू0 11341 चार्ज किया जायेगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here