जब रामसिंह ने 19 फीट लम्बी मूछें लहराईं ,तो आॅडिटोरियम दर्शकों की तालियों से गूंज उठा

0
483

भरतपुर। राजस्थान के विभिन्न अंचलों से आए लोक कलाकारों के नृत्य के बीच जब दुनिया में सबसे लम्बी मूंछों का खिताब प्राप्त कलाकार रामसिंह चौहान ने जब अपनी लगभग 19 फीट लम्बी मूछें लहराईं तो यूआईटी आॅडिटोरियम दर्शकों की तालियों से गूंज उठा। मौका था भरतपुर के 285वें स्थापना दिवस का। भरतपुर स्थापना दिवस पर पर्यटन विभाग की ओर से यूआईटी आॅडिटोरियम में सांस्कृतिक संध्या का आयेाजन किया गया। इसमें राजस्थान के विभिन्न अंचलों से आए लोक कलाकारों ने प्रतिभाओं का प्रदर्शन किया।

लोक कलाकारों के नृत्य गानों के बीच जब सबसे लम्बी मूंछों के धनी कलाकार रामसिंह चौहान ने अपनी 19 फुट लंबी मूंछें खोली तो आॅडिटोरियम मौजूद हरेक व्यक्ति उनकी मूंछों का कायल हो गया। स्वामी हरी चेतन्यपुरी के सानिध्य और जिला एवं नगर निगम के आयुक्त शिवचरण मीणा, कलेक्टर डाॅ. एन के गुप्ता के आतिथ्य में सांस्कृतिक संध्या की शुरुआत बृज लोक कला मण्डल डीग के कलाकारों की गणेश जी एवं बृज वंदना से हुई। होली के रंग मूंछों के संग कार्यक्रम में मोरचंग पर रामसिंह चौहान की लोकधुनों तथा होलिया में उडे रे गुलाल से होली का रंग छा गया।

भारत सरकार के विज्ञान और प्राद्योगिकी मंत्रालय द्वारा राजस्थान के प्रथम प्रिंट मीडिया का राष्ट्रीय विज्ञान संचार पुरस्कार विजेता तरूण कुमार जैन तथा मा. शिक्षा बोर्ड राजस्थान की राज्य स्तरीय शिक्षक प्रतियोगिता में पत्रवाचन स्पर्धा में द्वितीय रहे लोहागढ विकास परिषद के जिला समन्वय योगेश कुमार शर्मा तथा स्थापना दिवस पर पहली बार महिला हाॅकी मैच के आयोजक अनुराग गर्ग को भी सम्मानित किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रम में टोंक के रामप्रसाद शर्मा की कच्ची घोडी पुष्कर के कल्याण नाथ के भवाई नृत्य कालबेलिया नृत्य को दर्शकों ने जमकर सराहा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here