यहां शादी से पहले पैदा करने होते हैं बच्चे!

0
649

हर देश की अपनी अलग-अलग मान्यताएं और परम्पराएं होती हैं. इनमें से कुछ तो इतनी अजीब होती हैं कि सुनकर आदमी को चक्कर आ जाए. ऐसी ही एक अजीब परंपरा हमारे देश में भी है. जिसमें शादी करने के लिए लड़के और लड़की को पहले ही बच्चा पैदा करने की शर्त होती है। उसके बाद ही लड़के और लड़की की शादी होती है.

ये परंपरा राजस्थान के उदयपुर के सिरोही और पाली में रहने वाली गरासिया जनजाति में निभाई जाती है. इसके अलावा ये जनजाति गुजरात के भी कुछ हिस्सों में भी पाई जाती है. इस जनजाति की अनोखी परंपरा आज के मॉडर्न सोसाइटी की लिव-इन संबंधों से मिलती-जुलती है. गरासिया जनजाति में लड़के-लड़कियां आपसी सहमति से एक दूसरे के साथ लिव-इन में रहते हैं।

इसके बाद जब इनके बच्चे पैदा होते हैं, तो ये शादी करते हैं. गरासिया जनजाति में कई बच्चे पैदा होने के बाद परिवार की जिम्मेदारियों के चलते लोग शादी को टालते रहते हैं।

इस समुदाय में बालिग लड़के और लड़की अपनी पसंद और रजामंदी से लिव-इन में रहते हैं और बच्चे पैदा होने के बाद ही शादी के बंधन में बंधते हैं।

गरासिया जनजाति में दो दिन का विवाह मेला लगता है, जिसमें लड़के-लड़की आपस में मिलते है और भाग जाते है. वापस आने पर लड़के-लड़कियां बिना शादी के पति-पत्नी की तरह साथ रहने लगते हैं। इस दौरान सामाजिक सहमति से लड़की वाले को लड़के वाले को कुछ पैसे भी दे देते हैं. बच्चे पैदा होने के बाद वे अपनी सहूलियत से कभी भी शादी कर सकते हैं।

दरअसल इसके पीछे इस समुदाय की एक कहानी बहुत प्रचलित है कि आज से कई सालों पहले गरासिया जनजाति के चार भाई कहीं और जाकर बस गए. इनमें से तीन ने शादी की और एक समाज की कुंवारी लड़की के साथ लिव-इन में रहने लगा।

उसके बाद शादीशुदा तीनों भाइयों के कोई औलाद नहीं हुई और जो भाई लिव-इन में रह रहा था, उसके बच्चे पैदा हुए. बस इसी कहानी को आधार बनाते हुए इस समाज के लोगों ने इस परंपरा को जन्म दिया. गरासिया जनजाति में यह परम्परा दापा प्रथा कहलाती है. इनकी यह परंपरा लगभग 1000 साल पुरानी बताई जाती है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here