किसान संघर्ष समिति की शासन के साथ हुई वार्ता

0
314

 प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास ने किसानों की मांगों को जायज ठहराया

10 प्रतिशत प्लाॅट दिये जाने का शासनादेश मंगलवार तक जारी होगा
नोएडा, 16 जनवरी। विगत 01 माह से भी ज्यादा से ग्रेटर नोएडा के 50 गांवों के किसान कपकपाती शीत लहर में ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के कार्यालय के बाहर अपनी मांगों को लेकर आंदोलनरत थे तथा स्थानीय स्तर पर उनकी कोई सुनवाई नही हो रही थी।
मिली जानकारी के अनुसार किसानों के एक प्रतिनिधिमंडल ने इस सम्बन्ध में जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के आवास पर विगत दिनों उनसे मुलाकात की थी, जिसके परिपेक्ष्य में आज 16 जनवरी को जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के साथ किसान नेता मनवीर भाटी, राजेन्द्र प्रधान, अजब सिंह प्रधान, भगवत सिंह, रमेश रावल, राजेन्द्र नागर व देवेन्द्र खटाना ने प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास आलोक सिन्हा से वार्ता कर, जनपद के किसानों के पक्ष को मजबूती से रखा।
जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने किसानों की मांगों को जायज मानते हुए, प्रमुख सचिव से उनके पक्ष में निर्णय लिये जाने को कहा। किसान नेता मनवीर भाटी ने किसानों के मुददों व प्राधिकरण से समय-समय पर हुई वार्ताओं का जिक्र करते हुए, ज्ञापन में दिये गये बिंदुओं को विस्तार से उठाया, जिसका समर्थन वरिष्ठ भाजपा नेता श्रीचंद शर्मा ने किया। जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह के साथ किसान अपनी बात शासन को समझाने में सफल हुये तथा वार्ता की सफलता को देखते हुए, भविष्य के लिए प्राधिकरण व किसानों के बीच संघर्ष पर विराम लगने के पूरे आसार हैं।
प्रमुख सचिव औद्योगिक विकास ने किसानों के समक्ष ही प्राधिकरण द्वारा प्रेषित पत्रावली को तलब करते हुए, अगले मंगलवार तक किसानों के पक्ष में निर्णय लिये जाने का भरोसा किसानों को दिलाया। प्राधिकरण की तरफ से अपर मुख्य कार्यपालक अधिकारी श्री बाल कृष्ण त्रिपाठी भी इस बैठक में उपस्थित रहे। जेवर विधायक धीरेन्द्र सिंह ने प्रमुख सचिव से स्पष्ट शब्दों में कहा कि ’जनपद गौतमबुद्धनगर किसान आंदोलनों के लिए जाना जाता रहा है, जिसका मुख्य कारण प्राधिकरणों का किसानों के प्रति विवेकपूर्ण नजरिया न होना रहा है। सरकार व नौकरशाही का दायित्व है कि वह किसानों के पक्ष में उनके संरक्षक के तौर पर कार्य करे।’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here