इतिहास की दुखद दास्तान बयां करते महोबा मझारी द्वीप के उपेक्षित अवशेष

0
1980

यह इतिहास की उपेक्षित धरोहर देख रहे हैं आप ! अद्भुत संगमरमर के पत्थरों पर कला उकेरी गयी थी लेकिन आज कटे हाथी के अवशेष बचे हैं ….ये सभी पांच हाथी महोबा के मदन सागर सरोवर के बीच में स्थित मझारी द्वीप में आज भी ऐसे ही पड़े हुए हैं।

मझारी द्वीप पर बगैर नाव के जाना बहुत मुश्किल होता है। दो-चार साल में जब कभी मदन सागर सूख जाता है, तभी लोग वहां बिना नाव के पैदल जा पाते हैं।

इनमें कुछ बड़े हैं तो कुछ छोटे हैं लेकिन ये सभी हाथी उस विनाशकारी इतिहास की दुखद दास्तान बयां कर रहे हैं जिसका दंश आज भी हम झेल रहे हैं ? अब देखिये सरकार की नज़रें इनायत कब होती है इन पर?

फोटो साभार: तारा पाटकर

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here