न पत्थरबाजी रुकी और नहीं कालाधन खत्म हुआ: अखिलेश यादव

0
411
भाजपा ने देश की अर्थव्यवस्था को चौपट करने में कोई कसर नहीं छोड़ी
लखनऊ, 08 दिसम्बर 2018: सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने कहा है कि लोकसभा चुनाव नज़दीक आते ही भाजपा ने समाज को तोड़ने और तनाव पैदा करने की साजिशें तेज कर दी हैं। इसके लिए भाजपा नेता विवादास्पद बयान देकर प्रदेश में अशांति फैलाने और अराजक स्थिति पैदा करने में लग गए हैं। इसके लिए उन्होंने अपने पुराने तरीके जाति-संप्रदाय की राजनीति को अपनाना शुरू किया है।
उन्होंने कहा कि तिल का ताड़ बनाने का यह काम संगठित तरीके से हो रहा है। जबकि जरूरत इस बात की है कि विकास को ही पूजा मानकर उसे प्राथमिकता में रखना चाहिए। भाजपा नेता यह समझने में भयंकर भूल कर रहे हैं कि बुनियादी मुद्दों से ध्यान हटाकर वे मतदाताओं को गुमराह करने में सफल हो जाएंगे।
उन्होंने कहा कि सच तो यह है कि भाजपा ने केन्द्र और राज्य में जब से सत्ता सम्हाली है वह राष्ट्रीय मसलों पर कोई ठोस नीति नहीं बना सकी है। भाजपा सरकार ने देश की अर्थव्यवस्था को चौपट करने में कोई कसर नहीं छोड़ी है। साथ ही जनसामान्य की जिंदगी को भी तबाह करने का काम किया है। उसकी प्राथमिकता में कभी गरीब, किसान, नौजवान नहीं रहे हैं इसलिए जनहित की कोई योजना भाजपा सरकारों ने लागू नहीं की है।
भाजपा नेतृत्व को पता है कि नोटबंदी और जीएसटी से व्यापक स्तर पर अराजकता पैदा हुई है। व्यापार कारोबार में संकट है। नोटबंदी से न भ्रष्टाचार न तो आतंकियों पर रोक लगी, न पत्थरबाजी रुकी और नहीं कालाधन खत्म हुआ। घरेलू बचत भी इससे समाप्त हो गई। कई औद्योगिक संस्थानों में बड़े पैमाने पर कर्मचारियों की छंटनी भी हो गई। जनता को कोई राहत तो मिली नहीं उल्टे मंहगाई बढ़ गई। डीजल, ईंधन गैस, खाद, कीटनाशक, बीज के साथ दालें तक मंहगी हो गई। जनता की दिक्कतें हजार गुना बढ़ गईं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here