‘आप’ के खिलाफ जारी रहेगा आंदोलन, सीएम से लिखित माफी की मांग 

0
314

नई दिल्ली । सरकार और अधिकारियों के बीच होली पर तेज हुई सुलह की अफवाहों के बीच आंदोलन चला रही ज्वाइंट फोरम ने साफ किया है कि आंदोलन जारी रहेगा और आगे की रणनीति पर सोमवार को फैसला लिया जाएगा। फोरम में शामिल दिल्ली सरकार कर्मचारी वेलफेयर एसोसिएशन ने कहा है कि सभी अधिकारी मुख्य सचिव अंशु प्रकाश और अन्य कर्मचारियों की मर्यादा और सुरक्षा की लड़ाई में एकजुट हैं। एसोसिएशन ने अपने बयान में उस खबर को बेबुनियाद करार दिया कि उसने 19 फरवरी को केजरीवाल के निवास पर बैठक के दौरान आम आदमी पार्टी (आप) के कुछ विधायकों द्वारा मुख्य सचिव पर किए गए कथित हमले के मुद्दे पर अपना रुख बदल लिया है। एसोसिएशन के अध्यक्ष डीएन सिंह और कुछ अन्य अधिकारियों ने शुक्रवार को होली पर केजरीवाल से उनके निवास पर भेंट की थी।

इसके बाद यह बयान आया है। आइएएस और दानिक्स सेवा समेत दिल्ली सरकार के कर्मचारियों की ज्वाइंट फोरम मुख्य सचिव पर हमले के बाद से ‘आप’ मंत्रियों की बैठकों का बहिष्कार कर रही है। उसने केजरीवाल से इस घटना को लेकर लिखित माफी मांगने की मांग की है। फोरम ने साफ कहा है कि मुख्यमंत्री केजरीवाल और उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया जब तक माफी नहीं मांगेंगे, आंदोलन जारी रहेगा। फोरम के सदस्यों का कहना है कि दिल्ली सरकार की सभी बैठकों का बहिष्कार जारी रहेगा। पहले की तरह ही अधिकारी मंत्रियों के फोन नहीं उठाएंगे। सोमवार को आंदोलन को लेकर ज्वाइंट फोरम की बैठक बुलाई जाएगी। उसमें आगे की रणनीति पर फैसला होगा। विरोध के बावजूद अधिकारी पहले से अधिक काम कर रहे हैं। अस्पतालों के लिए क्विक रिस्पांस टीम बनाने के साथ ही परिवहन विभाग के क्षेत्रीय कार्यालयों को ऑनलाइन किए जाने संबंधी दो बड़े मामलों पर इसी दौरान काम किया गया है।

दिल्ली सरकार कर्मचारी वेलफेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष डीएन सिंह ने कहा कि सरकार के खिलाफ आंदोलन जारी रहेगा। मैं होली पर समाज कल्याण मंत्री राजेंद्र पाल गौतम से मिलने गया था। उसी समय केजरीवाल का गौतम के पास फोन आया था कि उनकी मां की तबीयत बहुत खराब है और वह अस्पताल जा रहे हैं। राजेंद्र पाल गौतम केजरीवाल के यहां जा रहे थे, मैं भी उनके साथ चला गया। मेरी केजरीवाल से बात हुई है। लेकिन, जो हालात हैं उससे यह मामला निपटता नजर नहीं आ रहा है। इसका कोई हल निकाला जाना चाहिए। ज्वाइंट फोरम के वरिष्ठ सदस्य मनीषा सक्सेना ने कहा कि डीएन सिंह से बात हुई है। वे निजी तौर पर होली पर केजरीवाल के घर उनसे मिलने गए थे। मगर, दिल्ली सरकार के ट्विटर हैंडल से सुलह के प्रयास के बारे में चलाया गया। इसका आंदोलन से कोई लेना-देना नहीं है। इस बारे में सिंह और उनकी एसोसिएशन ने सुलह की खबरों का खंडन किया है। सोमवार को ज्वाइंट फोरम की बैठक में आगे की रणनीति पर फैसला होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here