Home साहित्य वफादार उन्नीस पर चमचा पड़ता बीस

वफादार उन्नीस पर चमचा पड़ता बीस

0
1261

कितना जोर लगाइए कितनी काढ़ो खीस।
वफादार उन्नीस पर चमचा पड़ता बीस।।
चमचा पड़ता बीस बटर पर बटर लगाए,
जी हां, जी हां करें वही, अफसर को भाये,
यह अमोघ है दावं बहुत, मुश्किल है बचना।
चमचा ठहरे बीस जोर मारो तुम कितना।।

-सीएम त्रिपाठी

NO COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here