इम्मुनिटी पॉवर बढ़ाने के साथ दिल व दिमाग को ठीक रखता है शहद

0
235

आयुर्वेदाचार्य ने कहा, शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण संक्रमण को बढ़ने से हैं रोकते

पोषक तत्वों, खनिज व विटामिन से भरपूर शहद दिल, दिमाग व शरीर के लिए बहुत ही फायदेमंद है। प्रतिदिन इस्तेमाल से आपके शरीर को रोगों से लड़ने की शक्ति प्राप्त होने के साथ ही आपके चेहरे में भी निखार लाएगा। इसके प्रयोग से अनगिनत बीमारियों से छुटकारा पाने के साथ ही कोरोना रूपी महामारी से लड़ने में भी आपके शरीर को सक्षम बनाएगा। यही कारण है कि प्राचीन काल से ही भारतीय परम्परा में शहद को औषधि माना गया है।

बनारस हिन्दू विश्वविद्यालय के पंचकर्म विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ. जेपी सिंह के मुताबिक शहद में मुख्य रूप से फ्रक्टोज पाया जाता है। इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट, शहद जरूरी पोषक तत्वों, खनिजों और विटामिन का भंडार है। इसके अलावा इसमें कार्बोहाइड्रेट, नायसिन, विटामिन बी-6, विटामिन सी, राइबोफ्लेविन और एमिनो एसिड भी पाए जाते हैं। एक चम्मच (21 ग्राम) शहद में लगभग 64 कैलोरी और 17 ग्राम शुगर (फ्रक्टोज, ग्लूकोज, सुक्रोज एवं माल्टोज) होता है।

डॉ. जेपी सिंह के मुताबिक मुख्य रुप से लोग त्वचा में निखार लाने, पाचन ठीक रखने, इम्युनिटी पॉवर बढ़ाने, वजन कम करने आदि के लिए शहद का उपयोग करते हैं। इसके अलावा शहद में एंटीबैक्टीरियल और एंटीसेप्टिक गुण होते हैं, जिसकी वजह से घाव को भरने में या चोट से जल्दी आराम दिलाने में भी यह बहुत कारगर है। उन्होंने बताया कि अगर आपकी खांसी कई दिनों से ठीक नहीं हो रही है तो आप शहद का इस्तेमाल करें। यह काफी असरकारक घरेलू दवा है। शहद में मौजूद एंटीबैक्टीरियल गुण संक्रमण को बढ़ने से रोकते हैं। इसके साथ ही यह कफ को पतला करती है, जिससे वह आसानी से बाहर निकल जाता है। इसे रात में सोने पूर्व हल्के गुनगुने पानी में एक चम्मच शहद मिलाकर पीने से खांसी को आराम मिलता है।

शहद व गुनगुने पानी का मिश्रण खून में हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाता है, जिससे एनीमिया या खून की कमी की स्थिति में लाभ होता है। इससे खून में लाल रक्त कोशिकाओं (आरबीसी) की संख्या पर लाभदायक असर पड़ता है। शहद रक्त की ऑक्सीजन ले जाने की क्षमता को बढ़ाते हुए सांस फुलने जैसी बीमारी को भी कम करता है। इसके साथ ही इसके सेवन से दिमाग को भी पर्याप्त आक्सीजन मिलता है, जिससे दिमाग तदुंरूस्त रहता है।

डॉ. जेपी सिंह के मुताबिक शहद का नियमित सेवन सर्कुलेटरी सिस्टम और रक्त की केमिस्ट्री में संतुलन को पाने में न सिर्फ आपकी मदद करता है, बल्कि आपको ऊर्जावान और फुर्तीला भी बनाए रखता है। अगर आपको निम्न रक्तचाप की शिकायत है और अगर आप नीचे बैठे-बैठे अचानक उठने की कोशिश करते हैं तो आपको चक्कर आ जाते हैं। निम्न रक्तचाप का मतलब दिमाग में ऑक्सीजन का कम मात्रा में पहुंचना है। इसी तरह से अगर आप अपना सिर नीचे करते हैं और आपको चक्कर आते हैं तो इसका मतलब है कि आपको उच्च रक्तचाप की समस्या है। शहद का सेवन हमारे शरीर के इन असंतुलनों को दूर करता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here