टेस्ट क्रिकेट में विदेशी ज़मी पर भारत की सबसे बड़ी जीत 

0
388

पहला टेस्ट: भारत ने वेस्टइंडीज को 318 रन से हराया, जसप्रीत 4 देशों में 5 विकेट लेने वाले पहले एशियाई गेंदबाज बने


विराट कोहली ने कहा कि जिंक्स (रहाणे) दोनों पारियों में शानदार रहे। राहुल और विहारी ने भी अच्छी बल्लेबाजी की। हमें मैच में तीन-चार बार वापसी करनी पड़ी। ऑस्ट्रेलिया दौरे के बाद से हम सकारात्मक रूप से आगे बढ़े हैं।

भारत को जीत से मिले 60 अंक, रहाणे बने मैन ऑफ द मैच

टेस्ट क्रिकेट में विदेशी जमी पर भारत ने क्रिकेट में इएंडएस को हराकर सबसे बड़ी जीत दर्ज की है। उपकप्तान अजिंक्या रहाणो (102 रन) और हनुमा विहारी (93 रन) शानदार पारियों के बाद तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह की कातिलाना गेंदबाजी से भारत ने वेस्ट इंडीज को पहले क्रिकेट टेस्ट के चौथे दिन अंतिम सत्र में 100 रन पर ढेर कर 318 रन से ऐतिहासिक जीत हासिल कर ली।

एंटीगा में खेले गए पहले टेस्ट में भारत ने दूसरे पाली में अपनी दूसरी पारी सात विकेट पर 343 रन पर घोषित कर मेजबान टीम के सामने 419 रन का बेहद मुश्किल लक्ष्य रख दिया था। जिसका पीछा करते हुए विंडीज की टीम टी टाइम तक अपने पांच विकेट मात्र 15 रन पर गंवाने के बाद उबर नहीं सकी और टी टाइम के बाद 26.5 ओवर में 100 रन पर ढेर हो गई।

दो मैचों की सीरीज में मेहमान टीम ने बनाई 1-0 की बढ़त

भारत ने इस तरह विंडीज पर रनों के लिहाज से अपनी सबसे बड़ी जीत हासिल कर दो मैचों की सीरीज में 1-0 की बढ़त बना ली। भारत की ओवरआल रनों के लिहाज से यह चौथी सबसे बड़ी जीत है। भारत को इस जीत से 60 अंक मिले।

आईसीसी टेस्ट चैंपियनशिप के तहत दो टेस्टों की सीरीज में एक टेस्ट में जीत से 60 अंक मिलते हैं। भारत की दोनों पारियों में 81 और 102 बनाने वाले रहाणो को ‘‘प्लेयर ऑफ द मैच’ का पुरस्कार मिला।

बुमराह ने आठ ओवर में मात्र सात रन देकर पांच विकेट झटके और दक्षिण अफ्रीका, इंग्लैंड और आस्ट्रेलिया के बाद वेस्ट इंडीज के अपने पहले दौरे में एक पारी में पांच विकेट झटक लिए। पहली पारी में पांच विकेट लेने वाले 4शांत शर्मा ने 31 रन पर तीन विकेट और मोहम्मद शमी ने 13 रन पर दो विकेट निकाले।

भारत ने विंडीज की दूसरी पारी 100 रन पर समेट दी। भारत की रनों के लिहाज से उसके टेस्ट इतिहास की यह चौथी सबसे बड़ी जीत है। भारत इस मुकाबले में अपनी सबसे बड़ी जीत हासिल करने से चूक गया। इससे पहले उसने दक्षिण अफ्रीका को चेन्नई में 2015 में 337 रन से हराया था जो उसकी सबसे बड़ी टेस्ट जीत थी। कप्तान विराट कोहली ने इस जीत के साथ महेंद्र सिंह धोनी के 27 टेस्ट जीतने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली।

इस साझेदारी ने भारत को उसकी सबसे बड़ी टेस्ट जीत से दूर कर दिया। कप्तान विराट ने आखिर ईशांत को मोर्चे पर लगाया और रोच को आउट कर जीत भारत की झोली में डाल दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here