अगले 6 महीने तक क्रिकेट होना ही नहीं चाहिए: कपिल देव

0
2044

– कपिल देव ने कोरोना महामारी पर जताई चिंता

– कपिल देव ने शोएब अख्तर के भारत-पाक मैच प्रपोजल पर सुनाई खरी-खरी और कहा भारत को पैसे की जरूरत नहीं

भारत को पहला वर्ल्ड कप दिलाने वाले कप्तान कपिल देव ने शोएब अख्तर के भारत बनाम पाकिस्तान मैच के लिए सीधेतौर पर मना कर दिया है। उन्होंने कहा कि भारत को पैसे की जरूरत नहीं है। जरूरत इस बात की है कि सभी घर पर रहें और सुरक्षित रहें। दरअसल, महामारी कोरोना वायरस से जंग में सहायता राशि यानी फंड इकट्ठा करने करने के लिए पाकिस्तानी क्रिकेटर शोएब मलिक ने भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट मैच कराने का प्रपोजल रखा था।

भारतीय दिग्गज ऑलराउंडर कपिल देव ने एक मीडिया को दिए गए इंटरव्यू में कहा, वह अपनी राय रखने के हकदार हैं, लेकिन भारत को पैसे की जरूरत नहीं है तो ऐसी कोई भी सीरीज नहीं होनी चाहिए। हां, एक बात और हमें हमारे क्रिकेटरों की जान जोखिम में क्यों डालें? इसलिए घर पर बैठे और आराम करें। रावलपिंडी ऐक्सप्रेस नाम से मशहूर शोएब मलिक के प्रपोजल पर बात करते हुए उन्होंने कहा, खैर, भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड ने बड़ी राशि (51 करोड़ रुपये) मदद में दी है और अगर जरूरत पड़ती है तो वह और पैसे देने में सक्षम है। 1983 में पहली बार भारत को वनडे वल्ड चैंपियन बनाने वाले कप्तान ने आने वाले 6 महीने में क्रिकेट नहीं कराने की बात भी कही है।

उन्होंने कहा, अगले 6 महीने तक क्रिकेट होनी ही नहीं चाहिए, क्योंकि इसमें काफी खतरा है। फिलहाल सभी का ध्यान लोगों की जिंदगी बचाने पर होना चाहिए। क्रिकेट तो स्थिति सुधरने के बाद भी शुरू हो सकता है। कोई भी खेल देश से बड़ा नहीं हो सकता। उल्लेखनीयी है कि पाकिस्तान के पूर्व तेज गेंदबाज शोएब अख्तर ने कोविङ-19 के खिलाफ जंग में भारत और पाकिस्तान को साथ आकर एकदूसरे की मदद करने को कहा था। अख्तर ने अपने यू-ट्यूब चैनल पर कहा कि उन्होंने भारत में शो के दौरान जितना पैसा कमाया उसका 30 पर्सेट यहीं लोगों की मदद में ही खर्च किया। अख्तर ने कहा था, ‘भारत अगर हमें 10000 वेंटिलेटर देता है तो पाकिस्तान इसे हमेशा याद रखेगा।

 

उन्होंने भारत और पाकिस्तान के बीच वनडे सीरीज करवाए जाने की भी वकालत की थी। उन्होंने कहा था कि इससे होने वाली कमाई को कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में इस्तेमाल किया जा सकता है। हम तो सिर्फ मैचों की पेशकश कर सकते हैं। बाकी अधिकारियों को तय करना है। बता दें कि साल 2008 में मुंबई पर हुए आतंकवादी हमले के बाद से इन दोनों देशों ने एक-दूसरे के खिलाफ पूर्ण सीरीज नहीं खेली है। हालांकि एशिया कप और आईसीसी टूर्नमेंट में ये खेलते रहे हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here