बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय में ‘स्त्री विर्मश’ विषय पर विद्यार्थियों ने किया कविता पाठ

0
152

युवाओं में लिंग असमानता की सोच परखने के लिए किया गया कविता पाठ का आयोजन

बाबासाहेब भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय, लखनऊ में गुरुवार को विश्वविद्यालय की जेंडर चैंपियन कमेटी द्वारा स्वरचित कविता पाठ का आयोजन किया गया। यह कविता पाठ ‘स्त्री विमर्श’ विषय पर केंद्रित रहा। इस कविता पाठ का आयोजन युवाओं में लिंग असमानता की तर्क संगत सोच का विकास करने और उनके अंदर की सोच को परखने के लिए किया गया था।

डॉक्टर सुभाष मिश्रा ने बताया कि इस स्वरचित कविता पाठ का आयोजन विद्यार्थियों में तर्कसंगत सोच का विकास करने और लिंग असमानता को वह किस रूप में देखते हैं, इसके बारे में क्या सोचते हैं और वह किस प्रकार इस असमानता को परिभाषित करते हैं, यह जानने के उद्देश्य से किया गया।

कार्यक्रम की अध्यक्ष प्रोफेसर सुदर्शन वर्मा ने कार्यक्रम में भाग लेने वाले विद्यार्थियों की सराहना करते हुए कहा कि स्त्री-विमर्श और महिला सशक्तिकरण पर कविता के माध्यम से आज जिन विद्यार्थियों ने अपने विचार व्यक्त किये हैं, उससे महिला सशक्तिकरण पर युवा सोच का अंदाजा लगता है। मैं उम्मीद करती हूं कि ये विद्यार्थी समाज को महिलाओं के लिए एक बेहतर स्थान बनाने में अपना योगदान प्रदान करेंगे। इसके साथ ही उन्होंने भी एक स्वरचित कविता का पाठ किया और विद्यार्थियों को प्रोत्साहित किया।

कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रोफेसर सुदर्शन वर्मा, संकाय अध्यक्ष, स्कूल फ़ॉर लीगल स्टडीज द्वारा की गई। इस अवसर पर ज्यूरी सदस्य डॉक्टर शिव शंकर यादव, डॉक्टर बलजीत श्रीवास्तव, जेंडर चैंपियन कमिटी की अध्यक्ष प्रोफेसर शिल्पी वर्मा, सदस्य डॉक्टर रचना गंगवार, डॉक्टर यू0 वी0 किरण कार्यक्रम में उपस्थित रही। कार्यक्रम का आयोजन विश्वविद्यालय के जेंडर चैंपियन्स श्री अभिषेक अग्निहोत्री, सुश्री पूर्वी राय, सुश्री रोहिणी दहिया द्वारा किया गया। कार्यक्रम का समन्वयन और संचालन डॉ0 सुभाष मिश्रा द्वारा किया गया।

कविता पाठ में विवि के विद्यार्थियों, मुकेश कुमार, राघवेंद्र पाल, भुवन भास्कर, हिमांशी, अंबर पांडे, आशीष कुमार, शैलेश, दीपांशु, गीता, कुशाग्र, अरुण, अभिषेक, अरविंद ने अपनी लिखी कविताओं का पाठ किया। कार्यक्रम के अंत में डॉ0 नमिता जैसल ने सभी सदस्यों, विद्यार्थियों, शिक्षकों का कार्यक्रम में उपस्थित होने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here