5 जिलों के निजीकरण पर पूरे प्रदेश में जोरदार धरना प्रदर्शन

0
388
  • लखनऊ में मध्यांचल पर जमकर किया विरोध प्रदर्शन और सरकार से उठायी मांग फैसला लिया जाये वापस।
  • कल से पूरे प्रदेश में दलित व पिछड़े वर्ग के अभियन्ता बांधेंगे काली पट्टी और 27 मार्च से शुरू करेंगे व्यापक आन्दोलन।
लखनऊ, 19 मार्च। पावर आफिसर्स एसोसिएशन के तत्वाधान में उप्र सरकार की कैबिनेट द्वारा लखनऊ सहित गोरखपुर, वाराणसी, मेरठ व मुरादाबाद का निजी करण करने हेतु लिये गये फैसले के विरोध में आज से पूरे प्रदेश में दलित व पिछड़े वर्ग के अभियन्ताओं ने विरोध स्वरूप प्रदर्शन व धरना देकर पूरे प्रदेश में सभी बिजली कम्पनियों में विरोध किया।  उसी क्रम में उप्र पावर आफिसर्स एसोसिएशन के कार्यवाहक अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा के नेतृत्व में मध्यांचल विद्युत वितरण निगम मुख्यालय पर प्रातः 10 बजे से अपरान्ह 1 बजे तक जोरदार प्रदर्शन व धरना दिया गया। जिसमें बड़ी संख्या में पावर आफिसर्स एसोसिएशन के दलित व पिछड़े वर्ग के अभियन्ता शामिल हुए। सभी दलित व पिछड़े वर्ग के अभियन्ताओं ने जमकर नारेबाजी करते हुए सरकार के फैसले का पुरजोर विरोध किया।
 
एसोसिएशन के कार्यवाहक अध्यक्ष अवधेश कुमार वर्मा ने निजीकरण के पहले प्रयोग नोएडा पावर कम्पनी लखनऊ की कोआपरेटिव सोसाइटी सेस, आगरा की टोरेन्ट पावर के बारे में विस्तार से सभी को अवगत कराते हुए विद्युत अधिनियम 2003 की धारा 14 पर चर्चा करते हुए सरकार के कैबिनेट निर्णय को बिना नियामक आयोग अनुमति के लागू किया जाना असंवैधानिक बताया और सभी को वैधानिक पहलुओं से अवगत कराते हुए यह समझाने की कोशिश की कि सरकार द्वारा निजी करण का फैसला न तो प्रदेश की जनता के हित में है और न ही प्रदेश के बिजली कार्मिकों के हित में है।
उप्र पावर आफिसर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष केबी राम, अति. महासचिव अनिल कुमार, सचिव आरपी केन, संगठन सचिव, अजय कुमार ट्रांस्को अध्यक्ष महेन्द्र सिंह मध्यांचल अध्यक्ष शक्ति सिंह सिविल इकाई अध्यक्ष बीना दयाल ने धरने को सम्बोधित करते हुए आर-पार की लड़ाई का ऐलान करते हुए यह घोषणा की कि जब तक सरकार द्वारा निजीकरण का फैसला वापस नहीं लिया जाता तब तक लगातार आन्दोलन जारी रहेगा, उसी क्रम में कल दिनांक 20 मार्च,2018 से पूरे प्रदेश के दलित व पिछड़े वर्ग के अभियन्ता काली पट्टी बांधकर अपना विरोध जतायेंगे और 27 मार्च को व्यापक संघर्ष के लिये मैदान में कूदेंगे।
पावर आफिसर्स एसोसिएशन के धरने को उप्र पावर कर्मचारी संघ के नेता श्री राममूर्ति मिश्रा, श्री अनिल कुमार विश्वकर्मा, सत्येन्द्र ओझा, आशीष त्रिवेदी, एसके भटनागर कैलाश चन्द्र ने भी समर्थन करते हुए धरने में अपना योगदान दिया।
आज के प्रदर्शन में प्रमुख रूप राकेश पुष्कर, बीके आर्या,एसपी सिंह, मनोज सोनकर, एसएस आर्या, धर्मेन्द्र कुमार, रामशब्द, राम चन्द्र, राव साहब गौतम, सुनील कुमार, चन्द्र विशाल, एके सिंह, एचपी कौशल, चन्द्रशेखर, अनिल कुमार, पीपी सिंह, आनन्द कनौजिया, जय प्रकाश, राज कपूर, राधाकिशन राव सहित अनेकों पदाधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here