एससी/एसटी और ओबीसी समाज के अधिकारों के लिए 19वें दिन भी भूख हड़ताल जारी

0
780

एलआईयू को भी नही जानकारी है भूख हड़ताल की

लखनऊ, 26 अगस्त 2018: एससी/एसटी और ओबीसी समाज अपने संवैधानिक अधिकारों को प्राप्त करने हेतु अखिल भारतीय अम्बेडकर महासभा की राष्ट्रीय महासचिव कंचन भारती पिछले लगातार 19 दिन से लखनऊ के तेलीबाग स्थित बुद्ध विहार में रात-दिन आमरण अनशन पर बैठी है।

समर्थकों का आरोप है कि केंद्र और उत्तर प्रदेश सरकार इस मामले को गंभीरता से नही ले रही है। आमरण अनशन स्थल पर पहुंचे अखिल भारतीय अम्बेडकर महासभा के प्रदेश अध्यक्ष चंद्रपाल अरुण ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए बताया कि देश के आठ राज्यों में लगभग 160 जगहों पर 4000 लोगों के भूख हड़ताल पर बैठे हुए हैं देश का ये सबसे बड़ा आंदोलन है। ये आंदोलन पूर्णरूप से संवैधानिक तरीके से किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि इस आंदोलन को समर्थन करने पहुँचे राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग के पूर्व चेयरमैन एँव साँसद मननीय पी एल पुनिया ने आश्वावशन दिया कि हम प्रधानमंत्री से मिलकर आपकी बातों को उनके समक्ष रखेंगे।

उनका कहना है कि समर्थन करने वालो में डॉ बी पी अशोक, आईपीएस, और अखिल भारतीय बहुजन समाज के राष्ट्रीय अध्यक्ष रमाकांत वर्मा जी ने तन,मन, धन से सहयोग करने का वादा किया।

बता दें कि मीडिया कोआर्डिनेटर ने इस मामले में बताया कि 08 अगस्त 2018 से प्रारम्भ आमरण अनशन स्थल महामाया बुद्ध विहार, तेलीबाग, लखनऊ पर भारतीय बौद्ध महासभा की महिला प्रकोष्ठ की जिलाअध्यक्ष भी समर्थन करने पहुँची। बहुजन महिला सामाजिक समिति की सभी सदस्यों ने जिसमे मुख्य रूप से किरण बौद्ध और काजल किरण पहले दिन से प्रतिदिन समर्थन में है। अनशन स्थल पर संजय खटाना, मिथिलेश गौतम,ओम् प्रकाश यादव, सुनील कुमार यादव, नीलम गौतम, सुनील आज़ाद, बसन्त कुमार कनौजिया, रोहित सिंह, क्रांतिकुमार (बीबीएयू, लखनऊ), माधुरी, कामिनी गौतम, रमानन्द चौधरी जी आदि लोग लगातार आमरण अनशन पर पहुँच कर समर्थन दे रहे है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here