वेंकैया नायडू आज संभालेंगे 13वें उपराष्ट्रपति पद की कमान

0
994

भारतीय इतिहास में वेंकैया नायडू आज से देश के दूसरे सबसे बड़े संवैधानिक पद की जिम्मेदारी संभालने जा रहे हैं उन्होंने आंध्र प्रदेश के नेल्लूर से नई दिल्ली तक का लंबा राजनीतिक सफर तय किया है। नायडू आज देश के 13वें उपराष्ट्रपति बनने जा रहे हैं राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद आज उन्हें पद और गोपनियता की शपथ दिलाएंगे। नायडू आज सुबह 10 बजे राष्ट्रपति भवन में शपथ लेंगे। इस दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा सराकर के कई बड़े मंत्री भी वह उपस्थित होंगे। बीजेपी के पूर्व अध्यक्ष और वरिष्ठ नेता वेंकैया नायडू देश के जाने-माने नेता हैं।

उपराष्ट्रपति वैंकैया के बारे में जाने कुछ ख़ास बातें:
  • एनडीए के उम्मीदवार वैंकैया को 516 वोट मिले, वहीं उनके प्रतिद्वंदी विपक्ष के उम्मीदवार और पश्चिम बंगाल के पूर्व राज्यपाल गोपाल कृष्ण गांधी को महज 244 वोट मिले। वैंकैया आंध्र प्रदेश से उपराष्ट्रपति बनने वाले तीसरे शख्स होंगे, वैंकैया से पहले डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन और वीवी गिरी भी देश के उपराष्ट्रपति रह चुके हैं। वैंकैया नायडू, इस वक्त देश ही नहीं, दुनिया की सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी बीजेपी यानी भारतीय जनता पार्टी के दो बार लगातार राष्ट्रीय अध्यक्ष पद पर भी मनोनीत रह चुके है।
  • वैंकैया जुलाई 2002 से अक्टूबर 2004 तक पार्टी के अध्यक्ष रह चुके हैं 2004 लोकसभा चुनाव में पार्टी की हार के बाद वैंकैया ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया था।
  • वैंकैया अटल सरकार में ग्रामीण विकास मंत्री रह चुके हैंवहीं मोदी सरकार में वैंकैया, तीन अहम मंत्रालय, शहरी विकास मंत्रालय, संसदीय कार्य मंत्रालय और सूचना और प्रसारण मंत्रालय का भी पदभार संभाल चुके हैं।
  • वैंकैया तीन बार कर्नाटक से तो एक बार राजस्थान से राज्यसभा के लिए चुने जा चुके हैं वैंकैया ने शहरी विकास मंत्री रहते हुए कई महत्वपूर्ण योजनाएं शुरु कीं जैसे- स्मार्ट सिटी, अटल मिशन, स्वच्छ भारत अभियान और सभी के लिए आवास इनमें प्रमुख हैं।
  • ‘प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना’ की शुरुआत में वेंकैया नायडू की अहम भूमिका थी वहीं वैंकैया ने दक्षिण भारत से होने के बावजूद भी ‘हिन्दी’ को सीखा और उत्तर भारत समेत तमाम हिंदी पट्टी में कई राजनैतिक रैलियों और सभाओं में जनता को संबोधित किया।