नीतीश कुमार ने हमको धोखा दिया है: लालू प्रसाद यादव

0

नीतीश कुमार के बीजेपी के समर्थन के साथ सरकार बनाने के बाद राजद प्रमुख लालू प्रसाद यादव ने नीतीश कुमार पर जमकर हमला बोला. गुरुवार को रांची में चारा घोटाले की सुनवाई के लिए रांची आए लालू ने कहा कि नीतीश कुमार ने हमको धोखा दिया है. हम राज्य में सबसे बड़ी पार्टी थे, हमें पहले सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए था. इसके खिलाफ हम लोग सुप्रीम कोर्ट भी जाएंगे. लालू यादव ने नीतीश कुमार पर कई हमले किए-

ढोंगी हैं नीतीश: लालू ने कहा कि चुनाव के समय मोदी ने बिहार में गोमांस का सवाल उठाया, नीतीश कुमार के डीएनए पर सवाल उठाया. हम 15-20 साल से मुकदमा ही लड़ रहे हैं, लोवर कोर्ट में हमें दोषी बनाने में नीतीश कुमार का ही हाथ था. नीतीश कुमार ने हमारे साथ ढोंग किया, पहले कहा कि हम लोग बीजेपी के साथ हाथ नहीं मिलाएंगे, लेकिन लुधियाना में हाथ मिलाया.

मैंने नीतीश का साथ दिया: लालू बोले कि हम रांची जेल गए थे, अगर हमें रांची कोर्ट से कुछ होता है तो हम सुप्रीम कोर्ट जाएंगे. हमनें नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया, अरुण कुमार ने नीतीश की छाती तोड़ने की धमकी दी थी, लेकिन मैंने कहा था कि लालू नीतीश के साथ है. पीएम मोदी ने जो पैकेज का वादा किया था, वो भी नहीं दिया. हमें बीजेपी के खिलाफ 5 साल का समर्थन मिला था. ये लोग गाय को ट्रक में बंद करके घुमाया करते हैं, ढोंग करते हैं.

खुद अपना प्रचार करवाते हैं नीतीश: नीतीश ने कहा था कि मैं मिट्टी में मिल जाउंगा पर बीजेपी से हाथ नहीं मिलाउंगा. ये लोग खुद प्रचार करवाते थे, कि नीतीश कुमार पीएम मैटेरियल है. मैंने नीतीश कुमार को सीएम बनाया, चाहता तो अपने बेटे को सीएम बनवा सकता था.

भस्मासुर निकले नीतीश: लालू यादव ने कहा कि मैंने शंकर की तरह बोला कि जाओ, पर नीतीश कुमार तो भस्मासुर निकले. बीजेपी और नीतीश के बीच मैच पहले से ही फिक्स था. लालू का बेस काफी मजबूत है.

नीतीश ने चलवाया सीबीआई का केस: नीतीश कुमार बीजेपी के साथ मिल कर के मेरे खिलाफ सीबीआई और ईडी का केस करवाया, सुशील मोदी को कहा गया कि तुम रोज लालू की ईमेज खराब करो. जब सीबीआई का छापा हुआ था तो मैं रांची में था.

पहले से फिक्स था सबकुछ: दिल्ली में बीजेपी की पार्लियामेंट की मीटिंग, पटना में नीतीश का इस्तीफा और बीजेपी की मीटिंग सबकुछ फिक्स था. मैं वहीं था, लेकिन जब गर्वनर को बुलाया गया तो मैं समझ गया कि कुछ गड़बड़ है.

सफाई मांगने वाले नीतीश कौन: लालू बोले कि अगर हमें किसी को सफाई देनी है तो एजेंसी को जवाब देंगे. नीतीश कुमार हमसे सफाई मांगने वाले कौन होते हैं. पर बाद में कह रहे हैं, कि हमनें तो इस्तीफा नहीं मांगा था. हमनें कोई भी दिक्कत नहीं दिया है.

उनके कफन में झोला: लालू ने कहा कि नीतीश हमें कह रहे हैं कि कफन में जेब नहीं होता है, लेकिन नीतीश के कफन में तो पूरा का पूरा झोला है. केंद्र में मंत्री बनना पहले से ही फिक्स था.

बिहार में शराब की होम डिलिवरी: नीतीश की शराब बंदी पर निशाना साधते हुए लालू ने कहा कि बिहार में शराब की होम डिलिवरी हो रही है. हमनें कहा था कि अगर तुम्हें मुख्यमंत्री नहीं रहना है तो तुम हट जाओ किसी और को सीएम बना देते हैं.

सुशील मोदी नीतीश की स्टेपनी: सुशील मोदी पहले भी नीतीश कुमार का स्टेपनी था अब फिर स्टेपनी बन गए हैं. हमनें राजभवन में था कि हमें सरकार बनाने मौका मिलना चाहिए. हमें 11 बजे का टाइम दिया गया था, लेकिन उसके बाद भी नीतीश को सरकार बनाने दी.

सुप्रीम कोर्ट जाएंगे: उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार ने हमको धोखा दिया है. हम राज्य में सबसे बड़ी पार्टी थे, हमें पहले सरकार बनाने का मौका मिलना चाहिए था. इसके खिलाफ हम लोग सुप्रीम कोर्ट भी जाएंगे. अच्छा हुआ कि नकली नीतीश चले गए हैं.