अनशनकारी जान देने चढ़ा पेड़ पर, प्रशासन ने फिर भी नहीं ली खबर  

0
677
आमरण अनशन छठा दिन – एक और अनशनकारी की तबियत बिगडी, अस्पताल में भर्ती
माध्यमिक कम्प्यूटर अनुदेशक एसोसिएशन उप्र ने अपनी माँगों को लेकर माध्यमिक शिक्षा निदेशालय पर छठवें दिन भी आमरण अनशन जारी
लखनऊ, प्रशासन की ओर से अनशनकारियों की सुध न लिए जाने नाराज आज एक अनशनकारी का धैर्य जवाब दे गया और अपनी जान देने के लिये निदेशालय के परिसर में लगे पेड़ पर चढ़ गया, साथियो के बहुत समझाने के बाद उसे पेड़ से नीचे उतारा गया। यह जानकारी आज माध्यमिक कम्प्यूटर अनुदेशक एसोसिएशन उप्र प्रदेश अध्यक्षा सुश्री साजदा पंवार ने दी।
उन्होने बताया कि धरने का आज 6 दिन बीत जाने के बाद भी शासन और विभाग का कोई भी जिम्मेदार अधिकारी अनशनकारियों का हाल-चाल लेने अभी तक नही आया और न ही अभी तक प्रशासन द्वारा माननीय मुख्यमंत्री जी से वार्ता कराने का प्रयास किया गया। जिससे पिछले 6 दिनों से आमरण अनशन पर बैठे कम्प्यूटर शिक्षक प्रवीण तिवारी (देवरिया) का धैर्य टूट गया और अपनी जान देने के लिये निदेशालय के परिसर में लगे पेड़ पर चढ़ गये। इस दौरान प्रशासन भी निदेशालय के परिसर में मौजूद नही था। उन्हें बहुत समझाने-बुझाने पर अन्य शिक्षकों की सहायता से पेड़ से नीचे उतारा गया। यदि जल्द ही माननीय मुख्यमंत्री जी से वार्ता नही कराई गई तो आक्रोशित और निराश कम्प्यूटर शिक्षक कोई भी आत्मघाती कदम उठा सकता है। जिसकी पूर्ण जिम्मेदारी शासन, विभाग और सरकार की होगी
प्रदेश महामंत्री अनिरुद्ध पाण्डेय ने बताया कि अनशनकारियों को माध्यमिक शिक्षा निदेशालय के परिसर में बरसात के मौसम में खुले आसमान के नीचे रात गुजारना पड़ रहा है। मच्छर काटने तथा खराब मौसम में सोने के कारण लगभग सभी शिक्षकों की तबियत खराब होती जा रही है। जिनमें से नरेन्द्र कुमार (सहारनपुर), विनय शनी यादव (फतेहपुर), राजकुमार लोधी (बुलन्दशहर) और श्यामू गुप्ता (प्रतापगढ़) की हालत गम्भीर है, और वे सभी सिविल अस्पताल में भर्ती हैं। मच्छर काटने से शिक्षकों में डेंगू होने की सम्भावना बड़ती जा रही है। उन्हांेने यह भी बताया कि पिछले वर्ष सितम्बर माह में भी आन्दोलन के दौरान इसी प्रांगण में खुले आसमान के नीचे सोने के कारण डेंगू होने से एक शिक्षिका की मौत हो चुकी है फिर भी शासन तथा विभाग इस और ध्यान नही दे रहा है।
प्रदेश सचिव दीपक तिवारी ने कहा कि हमें योगी सरकार पर पूरा भरोसा है कि वह कम्प्यूटर अनुदेशकों के साथ जरुर न्याय करेगी।
आमरण अनशन पर अनिरुद्ध पाण्डेय (प्रदेश महामंत्री), पुण्य प्रकाश त्रिपाठी (प्रदेश प्रवक्ता), बृहमप्रकाश दुबे (प्रदेश संगठन मंत्री), मो. दिलनवाज (मण्डल अध्यक्ष मुरादाबाद), देवेन्द्र सिंह (मण्डल अध्यक्ष मेरठ), नीरज शुक्ला (मण्डल मंत्री कानपुर), कु. वर्षा (जिलाध्यक्ष गाजियाबाद), कु. सुरभि लता (जिला उपाध्यक्ष हरदोई), श्रीमती रौली श्रीवास्तव (कम्प्यूटर शिक्षिका सीतापुर), श्रीमती रेखा मिश्रा (कम्प्यूटर शिक्षिका सुल्तानपुर), विनय शनी यादव (मण्डल उपाध्यक्ष इलाहाबाद), प्रवीण तिवारी (मण्डल उपाध्यक्ष गोरखपुर), शरद त्रिपाठी (जिला अध्यक्ष इलाहाबाद), प्रमोद राजभर (जिला अध्यक्ष आजमगढ़), संजय कुमार (जिला मंत्री सहारनपुर), बृजनारायण मल्ल (जिला मंत्री मऊ), श्यामू गुप्ता (जिला कोषाध्यक्ष प्रतापगढ), राजकुमार लोधी (कम्प्यूटर शिक्षक बुलन्दशहर), नरेन्द्र कुमार (कम्प्यूटर शिक्षक सहारनपुर), बृजेश पाठक (कम्प्यूटर शिक्षक बलिया), अशोक यादव (कम्प्यूटर शिक्षक प्रतापगढ़) कुल 21 कम्प्यूटर अनुदेशक बैठे हुये हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here