उप्र में भू माफिया और खनन माफिया के खिलाफ होगी कडी कार्वाई : योगी

0

उतरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने राज्य में 60 लाख परिवारों को निशुल्क बिजली कनेक्शन देने का जिक्र  करते हुए कहा कि उतरप्रदेश में भू माफिया और खनन माफिया के खिलाफ कडी कार्वाई होगी।
योगी आदित्यनाथ आज यहां आयोजित केन्द्र सरकार की प्रधानमंत्री आवास योजना और निशुल्क बिजली कनेक्शन के कार्ड वितरण समारोह को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि उतर प्रदेश की पिछली सरकारों में जनता को आवास योजना का कोई लाभ नहीं मिला है। वर्ष 2019 तक हमारा 14 लाख लोगों को आवास देने का लक्ष्य है जिसमें 9 लाख नये आवास ग्रामीण क्षेत्र में भी दिये जायेंगे।
उन्होंने कहा कि अब किसी भी भू माफिया और खनन माफिया का राज नहीं चलेगा। गुण्डे , माफिया और खनन माफियाओं के खिलाफ कडी कार्वाई अमल में लाई जायेगी।
योगी ने बताया कि उतर प्रदेश में 60 लाख गरीब परिवारों को निशुल्क बिजली कनेक्शन दिये जायेंगे। उत्तरप्रदेश में कोई भी जिला वीआईपी नहीं होगा। सभी 75 जिलों को समान सुविधा प्रदान की जायेगी। प्रदेश में 86 लाख किसानों का 36000 करोड रूपये ऋणमाफी की कवायद शुरू हो गई है और 17 अगस्त से इस पर काम शुरू कर दिया गया है।
मुख्यमंत्री ने निशुल्क बिजली कनेक्शन वितरित करते हुए कहा कि उतरप्रदेश की जनता बेहद ईमानदार है लेकिन पिछले कुछ समय से प्रदेश की जनता को ऐसा वातावरण दिया गया जिससे यहां की जनता चोरी करने के लिये मजबूर हो गई लेकिन वर्तमान सरकार ने ऐसा माहौल बनाया है जिससे वे ईमानदारी से अपने कर्तव्य का पालन कर रहे है।
उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों मे बिजली का नया कनेक्शन लेने के लिये आम जनता को भारी व्यय करना पडता था। इसलिये लोग मजबूर होकर कनेक्शन लेन की बजाय चोरी करने को मजबूर हो जाते थे लेकिन हमारी सरकार ने बिजली कनेक्शन लेने पर लगने वाला शुल्क बिल्कुल माफ कर दिया। अब सरकार ईमानदारी से बिजली कनेक्शन दे रही है और सबके घरों में मीटर लगा रही है ताकि सभी लोग ईमानदारी से अपना बिल भर सके।
मुख्यमंत्री ने शान्तिपूर्वक कावड यात्रा सम्पन्न होने पर सभी का धन्यवाद देते हुए कहा कि त्यौहार मनाना सबका अधिकार है और सभी को इसे खूब मनाना भी चाहिये लेकिन त्यौहार मनाते समय इस बात का अवश्य ध्यान रखना चाहिये कि हमारे त्यौहार की वजह से किसी को परेशानी न हो।
इसके बाद मुख्यमंत्री ने सर्किट हाउस मे विकास कार्याे की समीक्षा की।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here