नीतीश फिर बने बिहार के CM, विश्वास मत हासिल किया

0
484

131 वोट पक्ष को मिले तो वहीं 108 वोट विपक्ष को मिले

कांग्रेस पर पलटवार करते हुए नीतीश बोले पच्चीस सीट नहीं मिल रही थी कांग्रेस को हमने चालीस दिलाई

नीतीश कुमार ने अपना विश्वास मत बिहार विधानसभा में भारी हंगामे के बीच आज हासिल कर लिया है। विपक्ष ने आज जमकर हंगामा किया लेकिन आखिरकार नीतीश ने अपना विश्वासमत हासिल किया और 131 वोट पक्ष को मिले तो वहीं 108 वोट विपक्ष को मिले।

आज सुबह 11 बजे से विधानसभा का विशेष सत्र शुरू हुई और तीखी बहस के बाद नीतीश के विश्वास मत पेश करने के बाद सदस्यों ने पहले सदन में सभी सदस्यों की हां और ना के बाद लॉबी डिवीजन से फ्लोर टेस्ट हुआ और ध्वनिमत से सदन में फैसला नहीं होने के बाद वोटिंग कराई गई। विधानसभा में वोटिंग शुरू होने के बाद रजिस्टर पर एक-एक कर सदस्य अपने हस्ताक्षर किए। नीतीश ने तो विश्वासमत हासिल कर लिया है लेकिन राजद के तेवर को देखकर एेसा लगता है कि सरकार को पहली बार मजबूत विपक्ष का सामना करना पडे़गा।

क्या सत्ता सिर्फ भोगने के लिए है

हम एक-एक बात का सबको जवाब देंगे। सत्ता सेवा के लिए होता है, मेवा के लिए नहीं। नीतीश ने कहा कि मैंने महागठबंधन धर्म का हमेशा पालन किया, लेकिन जब मेरे लिए मुश्किल आई तो इस्तीफा दे दिया। कांग्रेस पर पलटवार करते हुए नीतीश ने कहा कि पच्चीस सीट नहीं मिल रही थी कांग्रेस को हमने चालीस दिलाई।सत्ता धन अर्जित करने के लिए नही होता। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर मैंने कांग्रेस नेताओं से हस्तक्षेप करने को कहा, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया, मैंने जनता के लिए ये फैसला लिया है, वोट देने वाली जनता परेशान थी और यह सरकार बिहार की जनता के लिए काम करेगी।