यूपी के मंत्रियों पर नजर रखेंगे RSS के गुप्तचर !

0
479
  • अमित शाह के समक्ष जिला अध्यक्षों व जिला प्रभारियों से लेकर दूसरे पदाधिकारियों तक ने मंत्रियों के न मिलने को लेकर शिकायतें दर्ज करायी थीं
  • मंत्रियों के यहां भी रखे जाएंगे संगठन से ओएसडी

सरकार व संगठन के बीच समन्वय को और बेहतर रखने के लिए अब योगी सरकार के मंत्रियों के यहां भी संगठन से ओएसडी रखे जाएंगे। भाजपा की ओर से ओएसडी के रूप में रखे जाने वाले कार्यकर्ताओं की लिस्ट तैयार कर सरकार को भेज दी गयी है। अब सरकार के स्तर से शीघ्र ही अनुमोदन मिलने के बाद उसे जारी कर दिया जाएगा। संगठन के ये कार्यकर्ता आरएसएस के आनुषंगिक संगठनों व विद्यार्थी परिषद के होंगे।

सूत्रों का कहना है कि पिछले दिनों लखनऊ प्रवास पर तीन दिन रहे भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के समक्ष जिला अध्यक्षों व जिला प्रभारियों से लेकर दूसरे पदाधिकारियों तक ने मंत्रियों के न मिलने को लेकर शिकायतें दर्ज करायी थीं। तीन दिनों तक विभिन्न स्तर पर कार्यकर्ताओं से संवाद करने के बाद श्री शाह ने इस दिशा में कुछ जरूरी निर्देश दिये थे। इसके बाद ही मंत्रियों के यहां संगठन से ओएसडी रखे जाने की सहमति बनी थी। सूत्रों के अनुसार पार्टी संगठन की ओर से इसके लिए अधिकृत स्तर से सूची तैयार कर सरकार को भेज दी गयी है।

भाजपा नेताओं का कहना है कि संगठन से जुड़े कार्यकर्ता राजनीतिक लोगों को पहचानते हैं। ऐसे में पार्टी के वरिष्ठ कार्यकर्ताओं के मंत्रियों से मिलने में सहूलियत होगी। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के ओएसडी के तौर पर दो लोगों को संगठन से रखा गया है। मंत्रियों के यहां संगठन से ओएसडी रखे जाने के फिलहाल कई मायने निकाले जा रहे हैं। इससे सरकार पर जहां संगठन की पकड़ बनी रहेगी, वहीं योजनाओं को जनता तक पहुंचाने की दिशा में भी ये ओएसडी मुफीद साबित होंगे।