ट्रेन में लूट और हाईटेक सुरक्षा व्यवस्था पर सवालिया निशान?

1
187

हाईटेक होती ट्रेनें और हाईटेक होती सुरक्षा व्यस्था के बीच भी यदि आपको यह सुनंने को मिले कि ट्रेन में डकैती पड़ गयी तो सवाल खड़े होना लाज़िमी है? इस नए हाईटेक युग में ट्रेन में लूटपाट और यात्रियों के साथ होने वाली हिंसक वारदातों पर विराम न लग पाना वाकई गंभीर चिंता का बात है। इस तरह की घटनाएं अक्सर घटती रहती हैं, जिनमें रेल यात्रा पर निकले यात्री का सारा सामान यदि चोरी हो जाता है या फिर उन्हें लूट लिया जाता है। ऐसे ही चलती ट्रेन में लूटपाट की एक और ताजा घटना सामने आई है, जो रेल यात्रियों की सुरक्षा पर फिर सवाल उठा रही है?

बता दें कि इसी बुधवार देर रात दिल्ली से बिहार के लिए भागलपुर जाने वाली एक ट्रेन में जिस तरह की डकैती हुई वह यात्रियों को सुरक्षित सफर कराने का दावा करने वाली रेलवे के लिए शर्मनाक ही है। इससे यात्रियों का रेलवे के प्रति भरोसा एक बार फिर टूटा बिहार के केउल और जमालपुर रेलवे स्टेशन के एक सुनसान जगह पर पहुंची, तो ट्रेन में पहले से मौजूद हथियारबंद लुटेरों ने चेन खींचकर ट्रेन में यात्रियों का सामान लूट लिया।

उनका अत्याचार यहीं नहीं रुका उन्होंने महिलाओं के गहने लूटे और दर्जनों मोबाइल नगदी सहित करीब तीस लाख रूपए भी लूट लिए। यात्रियों की चीख पुकार के बीच वह निर्भय होकर 1 घंटे से ज्यादा समय तक लूटपाट करते रहे लेकिन इस दौरान यात्रियों को किसी तरह की मदद नहीं मिली। खास बात यह है कि इस ट्रेन में ना तो पुलिसकर्मी और टीटी मौजूद थे। ऐसा खुद रेलवे पुलिस के अधिकारियों ने कहा है। अब सवाल उठता है कि क्या रेल महकमें ने ट्रेन यात्रियों को लुटेरों के रहमोकरम पर रखा है। अब ऐसे में रेलवे के उस आश्वासन और दावे का क्या मतलब जिसमें रेल यात्रियों के सुरक्षित सफर का भरोसा दिया जाता है?

1 COMMENT

  1. I could not resist commenting. Exceptionally well written! Ahaa, its good conversation regarding this piece of
    writing at this place at this weblog, I have read all that, so
    now me also commenting at this place. I’ll immediately snatch your rss as
    I can not to find your email subscription hyperlink or e-newsletter service.

    Do you have any? Kindly let me recognize so that I could
    subscribe. Thanks. http://foxnews.net

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here